कुपोषण के खिलाफ जन आंदोलन बनेगा पोषण माह , जिले के सभी ब्लाकों में आयोजित हुई पोषण कार्यशालाएं

सिद्धार्थनगर। बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग द्वारा मनाए जा रहे पोषण माह में शु्क्रवार को जिले के सभी ब्लाकों में पोषण कार्यशालाएं हुई। इन कार्यशालाओं में कुपोषण के खिलाफ पोषण माह को जन आंदोलन का रूप देने की चर्चा की गई।
जिला कार्यक्रम अधिकारी शुभांगी कुलकर्णी ने कहा कि पोषण अभियान में कन्वर्जेंस की सबसे अहम प्रक्रिया है। कुपोषण के खिलाफ छह विभाग एक साथ मिलकर काम कर रहे हैं। इसमें विभागों के प्रतिनिधि बेहतर समन्वय से पोषण अभियान के लिए धरातल पर काम करें तो निश्चित ही कुपोषण से मुक्ति मिल जाएगी। पोषण माह कुपोषण के लिए बड़ा आंदोलन है। नौगढ़ तहसील परिसर में 5 विकास खण्डों के ब्लॉक पोषण समिति के सदस्यों ने बैठक की। इसमें सभी विभागों ने भागीदारी सुनिश्चित करने की शपथ ली। इस दौरान स्वस्थ भारत प्रेरक विनय कुमार ने कहा कि पोषण माह ऊपरी आहार थीम पर मनाया जा रहा है। इसमें हर दिन अलग- अलग गतिविधि के माध्यम से लाभार्थी को जोड़ा जा रहा है, जिसमें सबकी सहभागिता जरूरी है। समिति के सदस्य भ्रमण के दौरान लाभार्थी को पोषण के पांच सूत्रों की जानकारी जरूर दें। संचालन नौगढ़ सीडीपीओ गौरीशंकर यादव ने किया। बैठक में सीडीपीओ जोगिया निर्भय सिंह, सीडीपीओ शहर भानुप्रताप सिंह, सीडीपीओ लोटन बलराम यादव व समिति के सदस्य मौजूद रहे। अपर सांख्यिकीय अधिकारी बी.राम ने कहा कि गर्भवती और बच्चे के शुरूआती एक हज़ार दिन बहुत महत्त्वपूर्ण होते हैं। इसी दौरान बच्चे का अधिकतर मानसिक विकास होता है। इस समय मां और बच्चे को पोषित रखा जाए तो शारीरिक व मानसिक विकास बेहतर होगा। बांसी तहसील में ब्लॉक स्तरीय पोषण समिति की बैठक में मिठवल सीडीपीओ प्रियंका वर्मा ने कहा कि पोषण माह में सभी की जिम्मेदारी महत्वपूर्ण है। समन्वय से अभियान को धार दिया जाए तो जिला कुपोषण मुक्त हो जाएगा। बैठक में सीडीपीओ बांसी नीलम वर्मा व समिति के सदस्य मौजूद रहे।
[9/7, 03:04] srtaj Aalm Ji: बांसी में. मीटिंग करते ब्लॉक पोषण समिति के सदस्य

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *