एसडीएम डुमरियागंज त्रिभुवन की अध्यक्षता मे तहसील स्तरीय स्वास्थ्य एवं सुरक्षा समिति ,बाल विकास संरक्षण समिति ,खाद्य सुरक्षा समिति ,पेयजल एवं स्वच्छता समिति सर्व शिक्षा अभियान समिति सहित विभिन्न कमेटियों के अधिकारियों के साथ तहसील सभागार में की गयी बैठक

IMG-20191129-WA0102.jpg

डुमरियागंज , सिद्धार्थनगर । तहसील स्तरीय स्वास्थ्य एवं सुरक्षा समिति ,बाल विकास संरक्षण समिति ,खाद्य सुरक्षा समिति ,पेयजल एवं स्वच्छता समिति सर्व शिक्षा अभियान समिति सहित विभिन्न कमेटियों के अधिकारियों के साथ तहसील सभागार में बैठक की गई। जिसमें नायब तहसीलदार डुमरियागंज, चिकित्सा अधिकारी डुमरियागंज एवं भनवापुर ,बाल विकास एवं परियोजना अधिकारी, पूर्ति अधिकारी, खंड विकास अधिकारी के साथ बैठक की गई। कमेटी में तहसील डुमरियागंज के विकास हेतु निम्न निर्देश दिए गए—–
(१) आयुष्मान योजना अंतर्गत प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को सभी चिन्हित व्यक्तियों का दिसंबर के अंत तक गोल्डन कार्ड बनवाने हेतु निर्देशित किया गया। जिन व्यक्तियों के गोल्डन कार्ड बन गए हैं, उन्हें जागरूक कर आयुष्मान योजना का लाभ पहुंचाएं। उन अस्पतालों की सूची सार्वजनिक करें जहां कोई गोल्डन कार्ड बनवाने वाला व्यक्ति अस्पताल में निशुल्क ₹500000 तक का इलाज करा सकता है। नए गोल्डन कार्ड बनाने के लिए जन सेवा केंद्र, ग्राम प्रधान, कोटेदार ,आंगनवाड़ी और आशा के साथ मीटिंग करवाने हेतु निर्देशित किया गया।सभी चिकित्सक अपनी कार्यशैली में सुधार करें। नियमित अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण करें तथा इलाज करें ।अनुशासनहीनता पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।
(२) मिशन इंद्र धनुष अंतर्गत ब्लॉक डुमरियागंज चयनित हुआ है जो अत्यंत खराब स्थिति है ।डुमरियागंज ब्लाक अंतर्गत टीकाकरण शत-प्रतिशत न होने के कारण मिशन इंद्रधनुष में चयनित हुआ है, जो परिवार टीकाकरण होने से छूट गए हैं ।उन्हें इस मिशन के अंतर्गत टीकाकरण कराना है इसके लिए प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि ग्राम वार सूची उपलब्ध कराते हुए प्रत्येक एन एम के साथ एक-एक अधिकारी पर्यवेक्षण हेतु लगाना सुनिश्चित करें ।जिसमें स्वयं खंड विकास अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी, बाल विकास परियोजना अधिकारी, नायब तहसीलदार ,तहसीलदार सपर्यवेक्षण अधिकारी के रूप में रहेंगे ।साथ ही टीकाकरण से वंचित परिवारों को शत प्रतिशत आच्छादित करने के लिए कोटेदार, ग्राम प्रधान ,ग्राम विकास अधिकारी ,लेखपाल का भी सहयोग लेना सुनिश्चित करें ।यदि कोई टीकाकरण से वंचित रहता है तो संबंधित कर्मचारी और अधिकारी का उत्तरदायित्व निर्धारित किया जाएगा।
(३)अति कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर निकालने के लिए बाल विकास परियोजना अधिकारी को निर्देशित किया गया कि अति कुपोषित बच्चों की सूची उपलब्ध कराएं। अति कुपोषित बच्चों के परिवारों को राशन ,पेंशन, आवास, साफ सफाई एवं अन्य सुधारों का लाभ पहुंचाया जाए। साथ ही बच्चों के वजन को निर्मित करने हेतु आशा और ग्राम प्रधानों के खातों से में उपलब्ध ₹5000 से वजन मशीन खरीदी जाए।
(४) सुमंगला योजना अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग और प्राथमिक शिक्षा विभाग को निर्देशित किया गया कि जो फॉर्म रजिस्ट्रेशन हो गए हैं उन्हें अपलोड करते हुए खंड विकास अधिकारी के पोर्टल पर प्रेषित करें तथा खंड विकास अधिकारी 3 दिवस के अंदर स्वीकृत कर रिपोर्ट दें यदि तीन दिवस में पूर्ण नहीं किया जाएगा तो कठोर कार्रवाई की जाएगी
(५) पेयजल और स्वच्छता सुधार के लिए संबंधित खंड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि सभी सफाई कर्मियों के साथ एक बैठक आहूत करें तथा नियमित सफाई करना सुनिश्चित करें। जिन विद्यालयों में हैंडपंप खराब है, तत्काल मरम्मत कराएं।किसी प्रकार की लापरवाही पर कठोर कार्रवाई की जाएगी
(६)पूरी नक्शा को निर्देशित किया गया कि राशन कार्ड बिना अनुमति के कोई कांटा और जोड़ा ना जाए पूर्व अनुमति प्राप्त की जाए यदि किसी का प्रार्थना पत्र आता है तो जांच कर अनुमति लेकर राशन कार्ड बनाया जाए यदि कोई पात्र व्यक्ति शेष रहता है तो पूर्ति निरीक्षक के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी 🇮🇳

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *