समाजिक एकता के मसीहा थे रविदास :-केदारनाथ आजाद , सास्कृतिक कार्यक्रम आयोजित कर मनाई गयी संत रविदास जयंती, जयभीम जागरण ग्रुप के गीतो से पूरी रात झूमे श्रोता

IMG-20200211-WA0341.jpg

इटवा, सिद्धार्थनगर । खुनियांव विकास क्षेत्र के ग्राम उड़वलिया में संत शिरोमणि रविदास जी के जयंती पर एक दिवसीय बौद्ध धम्म दीक्षा व सास्कृतिक समारोह का आयोजन किया गया ।सबसे पहले लोगो ने तथागत गौतम बुद्ध एवं बाबा साहब डा.भीमराव अम्बेडकर जी के प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया गया।
सोमवार की रात्रि मे हुए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यअतिथि भारतीय बौद्ध महासभा के जिलाध्यक्ष केदारनाथ आजाद ने कहा कि संत शिरोमणि रविदास जी समाजिक एकता के मसीहा थे, उन्होंने ऊंच-नीच, भेदभाव, जातिपाति और धर्म भेदभाव आदि कुप्रथा के खिलाफ थे , भक्ती भावना से पूरे समाज को एकता के सूत्र में बांधने का काम किया।
भीम आर्मी जिलाध्यक्ष रमेश निगम ने कहा कि संत शिरोमणि रविदास जी महान समाज सुधारक, दार्शनिक, कवि और धर्म भेदभाव से ऊपर उठकर भक्ति भावना दिखाई।
जयभीम जागरण गुरुप के गायक दिलीप बौद्ध ने समाज सुधारक गीतो के माध्यम का समा बाधा ।इस मौके पर चन्द्र भूषण आजाद, जोखई प्रसाद, राम शब्द, राधेश्याम गौतम,लालबहादुर, पिंगल प्रसाद, अजय गौतम,वीरेंद्र कुमार, सूर्य प्रताप नाहर,सुभाष, फूल चंद्र, ज्ञानदास, राजू,प्रेमचंद, रामानुज, रामजीत, रोहित, सविता, सावित्री आदि बडी संख्या मे लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *