अतिक्रमणकारियों पर चला नगर पंचायत प्रशासन का चाबुक, कस्बेवासियों ने लगाया आरोप है कि चिन्हित लोगों का ही अतिक्रमण हटाया जा रहा है

IMG-20200214-WA0200.jpg

शोहरतगढ़/सिद्धार्थनगर। स्थानीय कस्बे के अन्दर बीते दिन अतिक्रमण हटाने पहुँची नगर पंचायत की टीम का कस्बेवासियों ने जमकर विरोध किया। जिससे कस्बे का माहौल गरमानेे लगा ऊहापोह का माहौल बन गया। कस्बेवासियों की भीड़ पुलिस सहायता केंद्र से लेकर चौक बाजार तक इकट्ठा हो गई। विरोध बढ़ता देख पुलिसवालों ने कस्बेवासियों को समझा-बुझा कर शांत कराया और नगर पंचायत टीम को फिलहाल वापस भेज दिया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक शोहरतगढ़ नगर पंचायत में अतिक्रमणकारियोंं ने नगर पंचायत के चप्पे-चप्पे पर कब्जा कर रखा है। कस्बे के आधे भाग को ठेला दूकानदारोंं ने खूूम्चां, चाऊमीन, टिकिया, पकौड़ी, चाय और फल लगाकर कब्जा किया गया है। वही नगर पंचायत के आधे भाग को बिसाता, चूड़ी, रेडीमेड कपड़े, रंग और जूता- चप्पल वालें चौकियों पर लगाकर कब्जा किया गया है। यहां तक कि भारत माता मंदिर चौक को भी अतिक्रमणकारियों ने किराने की दुकान लगाकर कब्जा कर रखा है। जिससे बाइक व साइकिल तो दूर पैदल चलकर पुलिस सहायता केंद्र से चौक बाजार भारत माता मंदिर तक जाना भी दुश्वार है। कस्बे के इन अतिक्रमणकारियों की कारगुजारी पर
नगर पंचायत प्रशासन ने अभी तक आँखे बंद कर रखा था। गुरुवार को अचानक लाउडस्पीकर से एलान कराने के साथ ही नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी के आदेश पर जब नगर पंचायत कर्मियों की टीम अतिक्रमण हटाने पहुँची तो लोगों ने जाना कि अब अतिक्रमण से निजात मिलने वाला है। लेकिन नगर पंचायत टीम द्वारा अतिक्रमण हटाने के दौरान मात्र चिन्हित लोगों पर ही कार्रवाई होता देख कस्बावासी भड़क गये और पुलिस के हस्तक्षेप से मामला शांत हुआ और अतिक्रमण हटाने वाली टीम द्वारा अतिक्रमण हटाने का कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है।जिससे अतिक्रमण जस का तस बना हुआ है। चौक बाजार के बृजेश वर्मा शंकर वर्मा आदि का कहना है कि कुछ लोगों का बिल्डिंग मटेरियल नगर पंचायत की सड़क पर रखा था जिसे नगर पंचायत की टीम ने हटा दिया और नगर पंचायत कार्यालय के वाहनों पर लादकर रास्ता साफ कर दिया। उसके बाद टीम चली गई। जबकि रास्ते में अतिक्रमण कर रखे अन्य दूकानदारो का अतिक्रमण नहीं हटाया गया जिससे लोगों ने विरोध किया। दूसरी तरफ़ अतिक्रमण हटाने वाली टीम कस्बे के समस्त भाग का अतिक्रमण छोड़कर टीम पुलिस सहायता केंद्र व चौक बाजार पहुँचकर शिव पूजन का टीन शेड हटाने लगी। शोर-शराबा सुनकर कस्बेवासियों की भीड़ पुलिस सहायता केंद्र चौक बाजार पर इकट्ठा हो गई और विरोध करने लगी। शिवपूजन व मनोज आदि दूकानदारो का कहना है कि पूरे नगर में अतिक्रमण है। सब जगह छोडकर यहाँ दूकान के सामने लगे टीन शेड हटाने का क्या मतलब है? कस्बेवासियों का आरोप है कि चिन्हित लोगों का ही अतिक्रमण हटाया जा रहा है, जो गलत है? इसीलिए विरोध किया गया है। वहीं कस्बेवासियों का कहना है कि चिन्हित करके नहीं बल्कि सार्वजनिक रूप से नगर पंचायत में ब्याप्त अतिक्रमण हटाया जाए। रास्ता साफ हो व नाली सफाई में आसानी हो। तभी कस्बेवासियों व राहगीरों को राहत मिलेगी और कस्बा देखने में भी सुंदर लगेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *