मनमानी तरीके से बिजली काटना विद्युत विभाग को पड़ा महंगा उपभोक्ता फोरम के आदेश पर विभाग पर हुआ जुर्माना

इटवा, सिद्धार्थनगर। इटवा कस्बा निवासी मोहम्मद मुख्तार के घर का बिजली का कनेक्शन गलत तरीके से बिजली विभाग द्वारा काटना बिभाग को महंगा पड़ गया पीड़ित परिवार के प्रति बाद पर जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग ने बिजली विभाग पर ₹6000 का जुर्माना लगाने के साथ ही घर का कनेक्शन तत्काल जोड़ने का निर्देश दिया है पीड़ित परिवार को मिले इस न्याय से आसपास के लोग भी काफी खुश हैं आयोग के अधिवक्ता मनीष मणि त्रिपाठी ने के मुताबिक कस्बा निवासी मोहम्मद मुख्तार ने वर्ष 2017 में बिजली विभाग से 1 किलो वाट का घरेलू कनेक्शन लिया था प्रथम बिजली 17 जनवरी 2019 में इस महीने का कुल 3268 रुपए 38 पैसे मिला था जिसे उन्होंने समयानुसार जमा कर दिया था द्वितीय बेल 17 जनवरी से लेकर 10 फरवरी 2019 तक विभाग की ओर से जारी किया गया तो उसमें 5934 रुपए बतौर एरियर के रूप में बकाया भेज दिया ऐसे में एरियर की रकम को छोड़कर उपभोक्ता ने शेष बिल या 31 अप्रैल 2019 तक स्वेच्छा से अनुमान के आधार पर 4579 रुपया 49 पैसा विभाग में जमा कर दिया ऐसे में विभाग का कोई बकाया ना होने के बावजूद बिजली विभाग द्वारा उपभोक्ता के घर का कनेक्शन 13 अप्रैल 2019 को काट दिया गया तत्पश्चात उपभोक्ता ने बिजली विभाग के अधिकारियों का खूब चक्कर लगाया और बार बार लिखित व मौखिक रूप से बिजली जोड़ने का आग्रह किया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई उपभोक्ता ने सुनवाई ना होने पर जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग में परिवाद दाखिल किया परिवाद में आयोग ने बिजली विभाग को अपना पक्ष रखने को नोटिस भी दिया पर विभाग की ओर से कोई पक्ष प्रस्तुत नहीं हुआ इससे एक पक्षी सुनवाई करते हुए आयोग की सदस्य कमेटी में अध्यक्ष राज्य सिंह वर्मा सदस्य मिश्रा विकास श्रीवास्तव ने बिजली विभाग पर परिवादी को मानसिक व शारीरिक पीड़ा पहुंचाने के लिए ₹5000 वाद व्यय के लिए ₹1000 का हर्जाना 60 दिन के अंदर देने का आदेश पारित किया साथ ही परिवादी के तीनों को ठीक करने के साथ तत्काल उनके घर का बिजली कनेक्शन जोड़ने का बिजली विभाग को आदेशित किया आयोग के इस फैसले पर उपभोक्ता के परिवार में काफी खुशी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *