ब्लाक के शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों आदि की एक सप्ताह के अंदर शिक्षक चौपाल बुलाए और उनकी समस्याओं को अपने स्तर से निस्तारित करें बीएसएसिद्धार्थनगर का यह आदेश अपने विभाग में बेअसर ,गंभीरता से नही ले रहे शिक्षा अधिकारी

सिद्धार्थनगर।शिक्षकों की बढ़ती समस्याओं को देखते हुए राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ सिद्धार्थनगर ने बीएसए सिद्धार्थनगर को यह ज्ञापन दिया था ।जिस क्रम में उन्होंने समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों को कड़ा पत्र लिखते हुए आदेशित किया था कि वह अपने अपने ब्लाक के शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों आदि की एक सप्ताह के अंदर शिक्षक चौपाल बुलाए और उनकी समस्याओं को अपने स्तर से निस्तारित करें और अविलम्ब सूचित करें।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी के उस आदेश को निकले हुए सप्ताह भर से ज्यादा हुए लेकिन खंड शिक्षा अधिकारियों के कान पर जूं नहीं रेंगी उनके लिए बीएसए का आदेश कोई मायने नहीं रखता। जिसकी यह मात्र एक बानगी भर है। कुछ ब्लाकों में खंड शिक्षा अधिकारी शिक्षकों के शोषण में लिप्त है उनकी मनमानी चरम पर है। उन्होंने उस आदेश को रद्दी की टोकरी में डाल दिया अथवा संज्ञान में नहीं लिया।उनका ध्यान शिक्षक समस्याओं के निराकरण में कदापि नहीं है,इसे लेकर शिक्षकों में रोष व्याप्त है। खंड शिक्षा अधिकारियों के निर्देशन में ब्लॉक स्तर पर एक वरिष्ठता सूची बनाई गई थी जिसमें तमाम विसंगतियां हैं शिक्षकों ने खंड शिक्षा अधिकारी का ध्यान इस तरफ इस कराया लेकिन उस विसंगतियों को अब तक दूर नहीं किया गया है।
राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जिला अध्यक्ष आदित्य शुक्ला ने बताया कि संगठन के द्वारा बीएसए को ज्ञापन दिया गया था जिस क्रम में उक्त आदेश जारी कराया गया था लेकिन अब तक किसी भी ब्लॉक में शिक्षक चौपाल लगने की कोई सूचना नहीं है। संगठन इसकी निंदा करता है और उचित मंच पर शिकायत दर्ज कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *