सीएमओसाहब:- आखिर एक ही परिसर मे नरसिंहोम , मेंडिकल स्टोर , व जांच सेन्टर चलानेचलाने वालो पर क्यो नहीं हो रही कार्यवाही

                   नियमो को दरनिार कर चलाये जो रहे इटवा  में दर्जनो मेडिकल सेन्टर 

क्राइम रिपोर्टर 

index 1

इटवा(सिद्धाथनगर)। सरकार जहां गरीबों के सरल इलाज के लिए कटिबध्य है। वहीं चन्द नौकरषाहों के कार्यप्रणाली से सरकार की मंषा भी धूमिल हो रही । और बिभाग के जिम्मेदार सब जान बूझ कर गैर कानूनी कार्यो को रोकने के बजाय अप्रत्यक्ष रुप से संरक्षण दे रहे है। ऐसा ही उदाहरण आपको इटवा में अनेको देखने को मिल रहा है। एक भवन में मेडिकल स्टोर ,दूसरे कमरे में मरीज भर्ती हो रहे , तीसरे कमरे में अल्ट्रासाउन्ड मशीन से जांच व चेकप हो रहा है। बावजूद स्वास्थ्य विभाग मौन साधो हुये है। अब इसमें अगर कोई विभागीय मिली भगत कह रहा तो गलत भी क्या है। और यदि विभाग की मिली भगत नहीं ंहै तो कार्यवाही क्यो नहीं हो रही है।

क्या कहते है मेंडिकल नियम

 स्वास्थ्य विभाग के नियमों के अनुसार किसी भी नरसिंह होम के संचालन केप्रयाप्त भवन, लैब के अलावा प्रशिक्षित चिकित्सक का प्रमाण पत्र के अलावा स्वास्थ्य मिभाग से रजिस्ट्रेश्न होना चाहिये । साथ ही जिस पैथी का चिकित्सक हो उसी पैथी का इजाज वहां होना ाहिए।
मेडिकल स्टोर व अल्टाउन्ड सचालन के नियम
मेंडिकल स्टोर संचालन के लिये उसी पैथी का फार्माशिष्ट का डिग्री धारक हो । साथ ही दुकान पर दवा देने के लिये अप्रशिक्षित लोगो का प्रयोग नहीं होना चाहिये।अल्टासाउन्ड के सचालन के लिये रेडियोलाजिस्ट व मेडिकल स्टोर के लिये फार्मासिस्ट डिग्री धारक होना चाहिए। बावजूद यहां धड़ल्ले से नियमो की अवहेलना करते हुये लोग पब्लिक को ठगने का नया कीर्तिमान स्थापित कर रहे है। और विभाग के तरफ सेमौन सह मति मिल रहा है। जिससे नियमो की ाज्जियां उड़ाने वालो की चादी कट रही है। भारतीय किसान यूनियन के तहसील अध्यक्ष राकेश श्रीवास्तव का कहना है कि विभाग को ऐसे सेन्टरो के खिलाफ छापेमारी कर कार्यवाही करना चाहिये। उन्होने कहा कि इस मसले पर जल्द ही जिलाधिकारी से मिल कर वार्ता की जायेगी।

ग्रामीणों ने युवकों को गोमांष के साथ पकडा, पीटा और पुलिस को सौपा

डा0 जंगबहादुर चौधरी

इटवा, सिद्धार्थनगर। त्रिलोकपुर थानाक्षेत्र के ग्राम डोकम अमया में षनिवार रात्रि में गांव के बाहर सीवान गोकसी कर बोरे में भर कर ले जाने की तैयारी कर रहे युवको का पकड़ कर ग्रामीणाों ने पुलिस के हवाले कर दिया।
                                    प्राप्त जानकारी के मुताबिक त्रिलोकपुर थानाक्षेत्र के ग्राम डोकमअमया में षनिवार रात्रि गांव के दक्षिण सिवान में 3 लोग एक गोबंसीय पषु को बोरे में मांष को भर रहे थे। सिवान में दूसरे तरफ कंबाइन मषीन से धान की कटाई कर रहे अन्य लोगो लोगो को लाइट इधर पड़ने पर कुछ संदेह हुआ। ग्रामीणों ने इस बात की सूचना स्थानीय पुलिय को देते हुये उक्त संदिग्ध लोगो के पास पहुंचे तो वाकया देखकर दंग रहे गये। ग्रामीणों के मुताबिक उक्त तीनो ब्यक्ति अपनी बाइक लेकर भागने की कोषिष की। जिसपर ग्रामीणों ने उन्हे दौड़ाकर पकड़ा और धुनाई की। ग्रामीणों को मौके पर गोंमांष के साथ मुन्ना उर्फ कल्लू पुत्र गुडडू निवासी भावपुर थाना इटवा , जुम्मन पंत्र मुनीर निवासी डोकम अमया थाना त्रिलोकपुर को पकड़ा ग्रामीणों के मुताबिक और भी लोग साथ में थे। जो रात्रि में अन्धेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहेे। घटना की सूचना पाकर पंहुची त्रिलोकपुर पुलिस ने मौके से दो आरोपियों सहित मोटर साइकिल यूपी 55 जे 7971 कस्टडी में ले लिया। इस सम्बन्ध में थानाध्यक्ष त्रिलोकपुर आरके राणा ने कहा कि आरोपियों को गोवध निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया।

 

1-2

भाजपा नेता ने हरिषंकर सिंह ने घटना की निन्दा की ।
इटवा।  इटवा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व पत्याषी हरिषंकर सिंह ने मौके पर पंहुचे। उन्होने इस कृत्य की कड़ी आलोचला करते हुये आरोपियों पर पुलिस विभाग से सख्त कार्यवाही की मांग की है। उन्होने कहा कि सपा सरकार कानून ब्यवस्था नाम की चीज नहीं है। आये दिन गोवंषीय पषुओं की तस्करी और गोहत्या के माले आम होते जा रहे है। लेकिन गोहत्या के मामलो पर भाजपा चुप बैठने वाली नहीं है। यदि आरोपियों पर कठोर कार्यवाही नहीं हुई तो भाजपाई आन्दोलन को बाध्य होंगे।

 

नमक की कमी के अफवाह से अफरा तफरी

img-20161112-wa0010

 

सिद्धार्थनगर। बैंको में नोटों की लाइन में लगकर घर लौटे लोग अभी ठीक से बैठे भी नहीं थे कि उन्हें नमक का पैकेट लाने के लिए घर से बाहर जाना पड़ा । पूरे यूपी में किसी ने अफवाह फैला दी कि नमक बनना बंद कर दिया है इसके बाद बाज़ार में लोग अंधाधुंध नमक खरीदने लगे। 18 रुपये किलो वाला नमक  40 रुपए किलो तक खरीद रहे हैं।इसके साथ ही कई दुकानों पर नमक भी खत्‍म हो गयाण् लोग दुकानों से 10 पैकेट से लेकर पूरी बोरी तक नमक अपने साथ लेकर जा रहे हैं।
यह अफवाह सोशल मीडिया के माध्‍यम से फैलाई गई है इसमें यह संदेश दिया गया है कि  कंपनी ने नमक बनाना बंद कर दिया है

इस अफवाह के बाद से लोग दुकानों पर जाकर अधिक से अधिक नमक खरीद रहे हैं। इस वजह से कई दुकानों पर 10 से लेकर 40 तक बिक रहा है। सिद्धार्थनगर जिला प्रशासन ने जनपदवाशियों से अपील किया कि
नमक की कमी पर ध्यान न दें ए यह केवल अफवाह है ए जिले में नमक की कमी नही है।उत्तर प्रदेश में बहुत बड़ा भंडार है ए कहीं कोई कमी नहीं है ।
तय रेट से कोई दूकानदार पैसा ज्यादा ले रहा है तो तुरंत
100 नम्बर पर पुलिस को फोन करो ।

​बर्डपुर ।   मोबाईल की दुकान मे सटर का ताला तोड़कर लाखो रूपये के समान चोरी    

अशीष मिश्रा


बर्डपुर, सिद्धार्थनगर। कपिलवस्तु कोतवाली क्षेत्र के चैनपुर चौराहे पर स्थित धीरज आटो पार्ट एंव मोबाईल सेंटर की दुकान में बीती रात सटर का ताला तोड़कर लाखो रूपये के समान की चोरी हो गई।

दुकान मालिक धीरज प्रतिदिन की तरह शुक्रवार शाम को दुकान बन्द करके अपने घर चला गया। दूसरे दिन सुबह जब दुकान पर पहुचा तो देखे सटर का ताला टुटा हुआ हैं। अंदर दुकान में रखा दो लैपटाप, 12 हजार नगद, 15 मोबाईल सेट, मोबाईल की बटरी व मोबाईल पार्ट तथा मोटर साईकिल की दुकान से चैन-किट, मोबिल सहित अन्य सामनो पर चोरो ने हाथ साफ कर बैठे। दुकानदार के मुताबित दुकान में रखा लगभग दो लाख की समानो की चोरी हुई हैं। जिसकी सूचना थाने पर दिया गया।

​अपहरण कर महिलाओ से धँधा करने वाला गिरोह पकड़ा गया

 क्राइम रिपोर्टर

इटवा कस्बे के एक कम्पूटर सेंटर से इस रैकेट के तार जुड़े होने की चर्चा जोरों पर 


इटवा, सिद्धार्थनगर । लड़कियों का अपहरण कर धन्धा कराने वाला अन्तर्राज्जीय गिरोह को अपहरण की गयी एक लड़की के साथ ग्रामीणों ने पकड़कर पुलिस को सौपा। इस मामले में अभी कई अपहरण की गयी लड़कियों की तलाश जारी बतायी जा रही है ।

सूत्रों के मुताबिक गोल्हौरा थाना क्षेत्र के तिवारीपुर चौराहे पर ये खेल महीनो से चलता था।  कुछ लोग आर्केस्ट्रा टीम के आड़ में सेक्स रैकेट चला रहे थे । जिसमे टीम के सदस्य रेंट पर कमरा लेकर महिलाओ का अपहरण कर महिलाओं वा लड़कियों से धन्धा कराते थे।

जिले की पुलिस भी  इस मामले से  बेखबर थी । सूत्रों के मुताबिक यह अवैध कार्य विगत कई माह से संचालित हो रहा था।  गौल्हौरा थानाक्षेत्र के  तिवारीपुर चौराहा पर एक किराये के मकान में बदायू से अगवा की गयी युवती को उसके परिजनों ने स्थानीय लोगो के सहयोग से मुक्त कराकर तीन आरोपियों में से एक आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया। पीड़िता ने तीनों आरोपियों पर गैंग रेप का आरोप लगाया है।

पीड़िता के अनुसार वह अपने घर जनपद बदायू से एक माह पूर्व अपने तीन अन्य सहेलियों के साथ नजीबाबाद जा रही थी बरेली में पकड़ा गया आरोपी चारो को गुलाब जामुन में नशीली दवा खिला कर तिवारीपुर ले आया। जहां आरोपी अपने दो अन्य साथियों के साथ जबरन दुष्कर्म करते थे। विरोध करने पर उसे मारते पीटते थे । लड़कियो का अपहरण कर धन्धा कराने वाला अन्तर्राज्जीय गिरोह को अपहरण की गयी एक लड़की के साथ ग्रामीणो ने पकड़कर पुलिस को सौपा। 

अभी  कई अपहरण की गयी लड़कियो की तलाश जारी। 

बकौल पीड़िता उसकी तीन अन्य सहेलियों को आरोपी कही बेंच डाले है। शुक्रवार शाम पीड़िता के भाई व बुआ तिवारीपुर पहुचे जहाँ स्थानीय लोगो की मदद से पुलिस को सूचना दे कर पीड़िता को मुक्त कराया गया और एक आरोपी को हिरासत में ले कर पुलिस अन्य के तलाश में जुटी है।सभी आरोपी जनपद हरदोई के हैं।  वे पिछले चार माह से तिवारीपुर में एक किराये के मकान में आर्केस्ट्रा संचालक बन कर रह रहे थे जिससे लोग उन पर संदेह नही कर रहे थे । पुलिस विधिक कार्रवाई में जुटी हुई है। सूत्रों बताते है की इस रैकेट के तार इटवा कस्बे के एक कम्पूटर सेण्टर से भी होने की चर्चा है ! बताया जाता है इटवा कस्बे के इस कम्पूटर सेंटर की आड़ में कई अनैतिक कार्यों को अंजाम दिया जा रहा जिसमे कुछ सफेदपोस के संरक्षण की भी चर्चा है।