इटवा बिजली बिभाग के कार्यप्रणाली से शासन की मंशा और ही धूमिल कदम कदम पर उपभोक्ताओं का और हां शोषण ग्रामीण क्षेत्र के जेई राजीव कुमार के संरक्षण में हर तरफ उपभोक्ताओं का किया जा रहा शोषण

इटवा सिद्धार्थ नगर। बिजली बिभाग इटवा में भारी भ्रष्टाचार का बोलबाला है स्थानीय कर्मचारियों के संरक्षण में प्राइवेट नए बिजली उपभोक्ताओं का शोषण हो रहा है बिजली विभाग के जेई राजीव कुमार के संरक्षण में क्षेत्र के कई ऐसे बड़े-बड़े शॉपिंग सेंटर हैं जिनमें 1 किलो 2 किलो वाट के कनेक्शन में पूरी कांप्लेक्स के दर्जनों से अधिक कमरों में बिजली चल रहा है ऐसा नहीं है कि विभाग के कर्मचारी नहीं जानते हैं बावजूद सुविधा शुल्क के खेल में बिजली विभाग के एसडीओ तक अपना आंखें बंद किए हुए हैं यहां तक की कई स्थानों पर बिभाग के संरक्षण में बगैर कनेक्शन के ही बिजली का संचालन हो रहा है वहीं बिजली विभाग के चंद संविदा कर्मचारियों के माध्यम से बिभाग को नजराना पहुंचाए जाने की भी बात बताई जा रही है ऐसा होने के कारण सरकार की मनसा पर पानी फिर रहा है क्षेत्र के पिपरा मधवापुर संग्रामपुर कपिया गौरा पिपरी कोल्हापुर गोपालापुर आदि स्थानों पर विभागीय कर्मचारियों के संरक्षण में कई लोगों के यहां एक 2 किलो वाट कनेक्शन पर कई कई दुकानों में बिजली की सप्लाई चल रही है वही छोटे-छोटे उपभोक्ताओं को जांच के नाम पर परेशान किया जाता है ऐसा बिजली विभाग के जेई राजीव कुमार के आने के बाद से होना बताया जा रहा है, इन्हीं प्राइवेट कर्मियों के इशारे पर गांव के छोटे उपभोक्ताओं को जांच आदि के नाम पर वह नया कनेक्शन दिलाने के नाम पर खूब धन उगाही का दौर भी खुलकर प्रकाश में आ रहा है बावजूद इनकी मनमानी पर अंकुश लगाने में शासन व प्रशासन नाकाम साबित हो रहा है क्षेत्र के उपभोक्ता रामनरेश, विनय कुमार, मतीउल्लाह ,तिलकराम ,रामलाल ,आदि ने बताया कि विभाग द्वारा कलेक्शन आज के लिए लोगों पर अनावश्यक दबाव बनाकर प्राइवेट कर्मियों के माध्यम से धन उगाही करने का प्रयास किया जा रहा जिससे शासन प्रशासन से लेकर क्षेत्र के जनप्रतिनिधि तक की छवि धूमिल हो रही है ग्रामीणों में या अभी चर्चाएं हैं कि ऐसा बिजली विभाग के अफसर अकेले नहीं कर रहे हैं उसमें कुछ जनप्रतिनिधियों का भी हाथ हो सकता है मामला कुछ भी हो लेकिन इस तरह की चर्चाएं लोगों में सिम मिल रही है क्षेत्र के उपभोक्ता ने जिलाधिकारी से इटवा क्षेत्र के बिजली विभाग के जेई राजीव कुमार का तबादला किए जाने के साथ अन्य संविदा कर्मियों की मनमानी की जांच कर उन पर अंकुश लगाए जाने की मांग की है ।

एआरपी व आंगनबाड़ी सुपरवाइजरों का चार दिवसीय बी एल टी प्रशिक्षण हुआ सम्पन्न, केन्द्रों को बेहतर बनाने का सीखा तरीका

सिद्धार्थनगर ।

बीआरसी नौगढ़ के सभागार में आगनबाड़ी कार्यकत्री, ए.आर.पी. ,आगनबाड़ी. सुपरवाइजर का जनपद स्तरीय बी एल टी चार दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न हुआ । प्रशिक्षण समापन समारोह के मुख्य अतिथि उप शिक्षा निदेशक व डायट प्राचार्य उपेन्द्र कुमार ने कहा कि प्रशिक्षण में सीखे गुर को जाकर आंगनबाड़ी केंद्रों व विद्यालयों में बच्चों के बीच पहुंचाने का कार्य करें ताकि प्रशिक्षण के महत्व को बल मिल सके और उद्देश्य की पूर्ति हो सके । चार दिन के प्रशिक्षण में ईसीसीई , खेल के प्रकार, विकास के स्तर, विकास के चरण, विकास की गतिविधियां ,समेकित बाल विकास योजना, भाव गीत ,किलकारी , कहानी सुनाने की विधि आदि विषयों की विस्तृत जानकारी प्रशिक्षकों द्वारा दी गई। प्रशिक्षक प्रियंका वर्मा ने कहा कि प्रत्येक बच्चा बेहद महत्वपूर्ण है, हमें उसके परिवेशीय ज्ञान से जोड़ते हुए उन्हें विद्यालय में आने के लिए तैयार करना है। यह तभी संभव होगा, जब हम बच्चे से भावनात्मक रूप से जुड़कर उसके मनोभावों को परखे तथा आने वाली चुनौतियों का उचित समाधान समय के अनुसार करें। मांस पेशियों के विकास तथा बच्चों के सर्वांगीण विकास पर ध्यान देने और प्रिन्ट रिच सामग्रियों के प्रयोग और शालापूर्व बच्चों की तैयारी का तरीका भी बताया। सी.डी.पी.ओ .संजय सिंह ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा में आंगनबाड़ी केंद्रों की महत्ता को रेखांकित किया , साथ ही यह भी कहा कि 3 वर्ष से लेकर 6 वर्ष तक बच्चों के के लिए भाव गीत तथा किलकारी बेहद उपयोगी माध्यम है। बच्चों में कहानी सुनने और सुनाने की तीव्र इच्छा होती है उनकी इस क्षमता का उपयोग करके हम उनके भीतर रचनात्मक कौशल का विकास कर सकते है।उन्होंने शालापूर्व तैयारी के तहत कहानी, खेल, गीत का अनुकरण करने के लिए सभी को प्रेरित किया। एसआरजी अंशुमान सिंह व अपूर्व श्रीवास्तव, समन्वयक जिला प्रशिक्षण सुभाष चंद्र शुक्ला ने भी प्रशिक्षण को प्रभावी व रोचक बनाने के साथ ब्लॉक स्तर पर आयोजित प्रशिक्षण को रुचिकर बनाने की पहल की।डुमरियागंज ब्लॉक ए.आर.पी. अरविंद कुमार ने भाव गीत के माध्यम से बच्चों के सर्वांगीण विकास की जानकारी दी। प्रशिक्षण के दौरान जिला समन्वयक प्रशिक्षण सुभाष चन्द्र शुक्ला, संध्या श्रीवास्तव, निर्भय सिंह, हरिश्चंद्र, रघुनाथ, सुरेन्द्र प्रसाद , वेद प्रकाश श्रीवास्तव, मुस्तन शेरुल्लाह खान, राम सेवक गुप्ता, दीपेंद्र पांडेय, विंध्यवासिनी सिंह, विमला पांडेय अनुपम सिंह , स्नेह लता , राम प्रवेश यादव आदि लोग उपस्थित रहे।

बेखौफ काट दिए 08 पेड़, जिम्मेदारों बने अनभिज्ञ

शोहरतगढ़/सिद्धार्थनगर ।एकतरफा जहां सरकार वृक्ष लगाओ और पर्यावरण व हरियाली बचाओ पर जोर दे रही है, वहीं हरियाली के दुश्मन वृक्षों को काटने से कतई बाज नहीं आ रहे हैं। समय-समय पर अकारण ही चंद पैसों के लिए ये हरियाली के दुश्मन वृक्षों को काटकर सरकार की मंशा को तार-तार कर पर्यावरण को प्रभावित कर रहे है और जिम्मेदार मूक दर्शक बने हुए हैं। ऐसा ही एक मामला गुरुवार को शोहरतगढ़ थानाक्षेत्र रमवापुर विद्यालय परिसर में हरियाली के दुश्मनों द्वारा देखने को मिला है। हरियाली के दुश्मनों ने विद्यालय परिसर से बेेखौफ शीशम
O1पेड़, बड़ा बरगद 01पेड़ और सेमर 06 पेड़ यानी छोटा बड़ा मिलाकर 08 पेड़ काटकर धरासाई कर दिए। वहीं कटेरों से इस बाबत पूछने पर विद्यालय के जिम्मेदारों द्वारा बिना परमिशन के ही बरगद व शीशम पेड़ों को कटाने की बात बताई गयी। वहीं वृक्षों के इस कटान के संबंध में जब खंड शिक्षा अधिकारी शोहरतगढ़ अभिमन्यु सिंह से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि उन्हें इस मामले की जानकारी ही नहीं है। अगर खंड शिक्षा अधिकारी के आदेश पर विद्यालय परिसर में
पेड़ों को नहीं कटाया गया तो पेड़ों कटान किसके सह पर हो रहा यह भी जांच-पड़ताल का बिषय है।

धूमधाम से निकाली गयी जन जागरण पदयात्रा

शोहरतगढ़ /सिद्धार्थनगर
श्रीराम मंदिर निर्माण निधि समर्पण की ओर से गुरुवार को कस्बेे स्थित श्रीराम जानकी मंदिर में प्रभु श्रीराम की प्रतिमा पर दीप जलाकर कस्बे में जन जागरण पदयात्रा निकाली गई । इस दौरान बड़ी संख्या में कस्बे के लोग शामिल रहें। पदयात्रा के दौरान भगवान श्रीराम के जयकारों से कस्बा गूंज उठा। जन जागरण पदयात्रा श्री राम जानकी मंदिर से प्रारंभ होकर रेलवे स्टेशन, मालगोदाम से होकर नगर पंचायत कार्यालय से भारत माता चौक, बुधई स्मारक होते हुए नीबी दोहनी का भ्रमण करते हुए पुनः वापस मेन रोड होते हुए श्रीराम जानकी मंदिर परिसर
में समाप्त हुई। जन जागरण पदयात्रा हियुवा देवी पाटन मंडल प्रभारी स्व०सुभाष गुप्ता के पुत्र सौरभ गुप्ता की अगुवाई में निकला। इस दौरान उन्होंने कहा कि वर्षों से चली आ रही प्रभु श्रीराम की भव्य मंदिर निर्माण की बाधा खत्म हो गई। जो पूरे विश्व के मानव के साथ आस्था से जुड़ी है। हर वर्ग का हिंदू प्रभु श्रीराम को अपना भगवान और आदर्श मानता है। उसी के साथ हिंदू की संस्कृति यही रही है कि सभी धर्मों का सम्मान करना है। अयोध्या में प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर बनने जा रहा है। उन्होंने उपस्थित लोगों को एक नारा दिया कि “राम लला हम जायेंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे।” इस दौरान कस्बे के भठ्ठा बाबा, केपी सिंह, अभय प्रताप सिंह, रविन्द्र वर्मा, संजय कसौधन, सतीश मित्तल, दुर्गेश अग्रहरि, कमलेश गुप्ता, बीडी कसौधन, दुर्गेश गुप्ता, सोनू पहलवान, रमेश कुमार, धनंजय गुप्ता, सूर्यप्रकाश पांडेय, विकास त्रिपाठी, अभिषेक कुमार, अनिल अग्रहरि, मनोज गुप्ता आदि सहित सरस्वती शिशु मंदिर के बच्चे मौजूद रहें।

बिजली विभाग इटवा में भारी भ्रष्टाचार का बोलबाला यह नए बिजली कनेक्शन मैं भी हो रही है मनमानी तरीके से धन उगाही कहीं मीटर के नाम पर तो कहीं केबल के नाम पर तो कहीं मकैनिक भेजने के नाम पर देना पड़ता है शुल्क

विशेष संवाददाता, इटवा सिद्धार्थ नगर । सरकार लाख दावे कर ले कि लोगों को अब आसानी से बिजली कनेक्शन मिल जाएगा ऑनलाइन प्रक्रिया के बावजूद भी बिजली करेक्शन नहीं मिल पा रहा है विभाग द्वारा ग्रामीण अंचल के जेल राजीव कुमार के संरक्षण में विभिन्न प्रकार से नए बिजली कनेक्शन पर कई मीटर चार्ज तो कहीं केबल चार्ज तो कहीं मिस्त्री भेज कर कनेक्शन लगवाने के नाम पर उसका चार्ज आज के नाम पर उपभोक्ताओं का जमकर शोषण किया जा रहा है यह बात क्षेत्र में पूरी तरह चर्चा का विषय बना हुआ है चर्चा यह भी है सुविधा शुल्क लेकर बिजली विभाग के कुछ कर्मचारी लोगों को अवैध रूप से बिजली जलाने आज में मदद करते हैं प्रत्यक्ष रूप से देखना है क्षेत्र के विभिन्न गांव में घूम कर देखा जा सकता है लोगों से बातचीत करने पर पता चलता है किसी को 3000 किसी को 5000 किसी को 8000 तक बिजली कनेक्शन का देना पड़ रहा है और बिभाग के तरफ से मीटर की रसीद के अलावा अन्य कोई रसीद नहीं दी जा रही है जिस पर कनेक्शन का शुल्क लिखा हो ऐसा बिजली विभाग ग्रामीण क्षेत्र के राजीव कुमार के नियुक्ति के बाद से बताया जा रहा है बताया यह भी जा रहा है कि विभाग द्वारा कलेक्शन में पारदर्शिता के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू की है बावजूद बिभाग के चंद कर्मियों के मिलीभगत से अधिकांश लोगों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन वा रिक्वेस्ट निरस्त कर दिया जाता है जिससे लोग बार-बार बिजली विभाग का चक्कर काटने को मजबूर होते हैं और अंत में किसी ना किसी से मिलकर कनेक्शन लेना उनकी मजबूरी हो जाती है अब यही शुरू होता है तरह तरह का शोषण और वसूली का खेल क्षेत्र में कई लोगों से वार्ता करने पर यह बात सामने आई है कि विभाग द्वारा कनेक्शन का जितना भी ले लिया जाए वह कम है ग्राम सिसवा बुजुर्ग में कई ऐसे पीड़ित है जिनका विगत दिनों कनेक्शन तो हो गया ओने पौने मैं लेकिन आज तक उनके घर विभाग द्वारा मीटर नहीं लगाया गया इसके अलावा ऐसे भी कई लोग हैं जिनके यहां मीटर तो लग गया लेकिन उन्हें आज तक कोई रसीद तक नहीं मिली अब सवाल यह उठता है कि यदि विभाग के उच्चाधिकारियों का और चक निरीक्षण हो तो जांच के दौरान फिर उपभोक्ता परेशान जरूर होंगे ऐसा लापरवाही का मामला ग्रामीण क्षेत्र के जेई राजीव कुमार के आने के बाद से बताया जा रहा है । बताया जाता है कि यह सब पैसे ऐंठने का उन्हीं का हथकंडा है अब सवाल यह उठता है की भाजपा सरकार में इन चंद कर्मचारियों की मनमानी के चलते शासन प्रशासन की आखिर कब तक छवि धूमिल होती रहेगी या फिर ऐसे मनमानी करने वाले अफसरों के खिलाफ कोई कार्यवाही किया जाएगा।

विकास हत्याकांड में विभिन्न पहलुओं की पुलिस कर रही जांच अभी तक कुछ नहीं लगा हाथ, वजनदार धारदार हथियार से हुई थी विकास की हत्या

इटवा सिद्धार्थ नगर। विकास हत्याकांड इटवा पुलिस के लिए अभी तक एक अनसुलझी पहेली साबित हुई है थाना के पुलिस का दावा है कि वह जल्द ही इस मामले से पर्दा उठाएगी अभी तक अभी तक पुलिस कॉलेज दोस्तों आदि पर बारी शक जताते हुए विभिन्न पहलुओं पर जांच कर रही है लेकिन अभी तक क्या मामला पुलिस बड़ा ही पेचीदा साबित हुआ है घटनास्थल से लगभग 20 किलोमीटर दूर मोबाइल का लोकेशन मिलना भी पुलिस के लिए कम चुनौती नहीं है आखिर इतनी दूर मोबाइल पहुंचा कैसे कई हत्यारे इसी लोकेशन के आसपास के तो नहीं है या फिर पुलिस को भ्रमित करने के लिए ऐसा किया गया हो तो कर पुलिस बहुत बारीकी से जांच में लगी हुई है बताया जाता है कि विकास गुप्ता के जिन अधिकांश नंबरों पर बातचीत हुई है उसमें अधिकांश लड़कियों का नंबर शामिल है इससे यह प्रतीत होता है कि और लड़कियों से काफी बातचीत करता था जिससे पुलिस एक तरफ इस बिंदु पर भी जांच करने को तेजी में है अभी तक कई लोगों से पूछताछ की गई इसके अलावा घटनास्थल पर जो गलत मिले उसके लिए पुलिस ने विभिन्न मेडिकल स्टोरों से भी जानकारी ली शायद कोई फ्लोर मिल जाए सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इटवा पुलिस इस मामले में अब तक लगभग दो दर्जन लोगों से उस्ताद ही कर चुके हैं अब देखना यह है इटवा पुलिस कितने समय में इस घटना से पर्दा उठा पाएगी आल्हा के हत्यारे कितने भी शातिर हो उनका बचना मुमकिन ही नहीं नामुमकिन है।इस संबंध में थानाध्यक्ष इटवा का कहना है कि टीम सक्रियता से लगी हुई है बिभिन्न पहलुओं व बिन्दुओ पर जांच की जा रही है जल्द ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे । ढेबरुआ पुलिस की लापरवाही की हो रही निंदा—- बिकास के गायब होने के बाद जब काफी खोजबीन के बाद कुछ पता नही चला तो परिजनो नेढेबरुआ पुलिस को इसकी सूचना दी ।लोगो का कहना है यदि तत्काल पुलिस सक्रिय हुई होती तो हत्यारे इस घटना को अंजाम नही दे पाते ।

विकास हत्याकांड में विभिन्न पहलुओं की पुलिस कर रही जांच अभी तक कुछ नहीं लगा हाथ, वजनदार धारदार हथियार से हुई थी विकास की हत्या

इटवा सिद्धार्थ नगर। विकास हत्याकांड इटवा पुलिस के लिए अभी तक एक अनसुलझी पहेली साबित हुई है थाना के पुलिस का दावा है कि वह जल्द ही इस मामले से पर्दा उठाएगी अभी तक अभी तक पुलिस कॉलेज दोस्तों आदि पर बारी शक जताते हुए विभिन्न पहलुओं पर जांच कर रही है लेकिन अभी तक क्या मामला पुलिस बड़ा ही पेचीदा साबित हुआ है घटनास्थल से लगभग 20 किलोमीटर दूर मोबाइल का लोकेशन मिलना भी पुलिस के लिए कम चुनौती नहीं है आखिर इतनी दूर मोबाइल पहुंचा कैसे कई हत्यारे इसी लोकेशन के आसपास के तो नहीं है या फिर पुलिस को भ्रमित करने के लिए ऐसा किया गया हो तो कर पुलिस बहुत बारीकी से जांच में लगी हुई है बताया जाता है कि विकास गुप्ता के जिन अधिकांश नंबरों पर बातचीत हुई है उसमें अधिकांश लड़कियों का नंबर शामिल है इससे यह प्रतीत होता है कि और लड़कियों से काफी बातचीत करता था जिससे पुलिस एक तरफ इस बिंदु पर भी जांच करने को तेजी में है अभी तक कई लोगों से पूछताछ की गई इसके अलावा घटनास्थल पर जो गलत मिले उसके लिए पुलिस ने विभिन्न मेडिकल स्टोरों से भी जानकारी ली शायद कोई फ्लोर मिल जाए सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इटवा पुलिस इस मामले में अब तक लगभग दो दर्जन लोगों से उस्ताद ही कर चुके हैं अब देखना यह है इटवा पुलिस कितने समय में इस घटना से पर्दा उठा पाएगी आल्हा के हत्यारे कितने भी शातिर हो उनका बचना मुमकिन ही नहीं नामुमकिन है।इस संबंध में थानाध्यक्ष इटवा का कहना है कि टीम सक्रियता से लगी हुई है बिभिन्न पहलुओं व बिन्दुओ पर जांच की जा रही है जल्द ही हत्यारे पुलिस की गिरफ्त में होंगे । ढेबरुआ पुलिस की लापरवाही की हो रही निंदा—- बिकास के गायब होने के बाद जब काफी खोजबीन के बाद कुछ पता नही चला तो परिजनो नेढेबरुआ पुलिस को इसकी सूचना दी ।लोगो का कहना है यदि तत्काल पुलिस सक्रिय हुई होती तो हत्यारे इस घटना को अंजाम नही दे पाते ।

इटवा कस्बे में डिग्री कॉलेज के पीछे नहर पर निर्माणाधीन आईटीआई बिल्डिंग में प्रथम तल पर 16 वर्षीय बालक की गर्दन कटी मिली लाश, क्षेत्र में फैला सनसनी जांच में जुटी पुलिस

इटवा ,सिद्धार्थनगर। इटवा थाना क्षेत्र के इटवा कस्बे के निकट बिशुनपुर बैराडीह गांव पास निर्माणाधीन आईटीआई बिल्डिंग के प्रथम तल पर एक छात्र की गला काट कर हत्या कर फेकी गयी लाश से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मंगलवार की सुबह घटना की सूचना मिलते ही एसपी राम अभिलाष त्रिपाठी सहित इटवा पुलिस भी घटना स्थल पर पहुंच गए। मृतक छात्र की पहचान ढेबरुआ थाना क्षेत्र के पचमोहनी गांव निवासी विकास गुप्त (16) पुत्र अयोध्या प्रसाद के रूप में हुई। जो पिछले दिन से घर से गायब था ।जानकारी के मुताबिक मृतक इटवा कस्बे के माता प्रसाद जायसवाल इंटर कॉलेज में कक्षा 11 का छात्र था। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक के परिवारीजनों के मुताबिक विकास सोमवार को माता प्रसाद जायसवाल इंटर कॉलेज में कक्षा 11 की परीक्षा देने गया था। परीक्षा देने के बाद वापस घर चला आया था। इसके बाद शाम चार बजे घर से झकहिया जाने के लिए निकला था। देर रात तक वापस घर नहीं लौटा तो उसकी खोजबीन शुरू कर दी। उसका मोबाइल फोन भी बंद आ रहा था। जिससे परिजन परेशान होकर खूब तलाश किये लेकिन कोई जानकारी नही मिल पाई।घटना की सूचना पर पुलिस क्षेत्राधिकारी अजय कुमार श्रीवास्तव के साथ मौके पर पहुंची इटवा पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शिनाख्त की कोशिश की तो उसकी पहचान पचमोहनी निवासी विकास गुप्त के रूप में हुई। पुलिस ने मामले की सूचना परिवारीजनों को दी। हत्या की खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया।
मृतक विकास तीन भाइयों में सबसे छोटा था। पिता के साथ उसके दोनों बड़े भाई मुंबई में हैं। इटवा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर वेद प्रकाश श्रीवास्तव के मुताबिक घटना स्थल से बीयर के बोतल के साथ शराब के खाली डिब्बे, सर्जिकल ग्‍लव्‍स, ब्लेड और मृतक के जेब से 50 रुपये की नोट मिली है। पुलिस टीम पूरे घटना क्रम की जांच में लगी है। फॉरेंसिक टीम के साथ एसओजी भी अपने स्तर से जांच कर रही है। जल्द ही मामले का खुलासा होगा ।

डीएम साहब आखिर कोटेदार के खिलाफ अनियमितता पाए जाने पर भी कार्रवाई में देर क्यों ? कैसे मिलेगा लोगों को इंसाफ, इटवा तहसील क्षेत्र के ग्राम बेलहसा पाली का मामला

,

इटवा सिद्धार्थ नगर। तहसील क्षेत्र के ग्राम बेलहसापाली गांव के कोटा की दुकान में अनियमितता की शिकायत पर हुई जांच के दौरान कमी पाए जाने पर भी कोई ठोस कार्यवाही नहीं की गई ,जिससे शिकायतकर्ताओ नहीं मिल पा रहा है इसको लेकर ग्रामीणों में भारी आक्रोश का माहौल है वही खाद्य विभाग एवं तहसील प्रशासन पर कई प्रश्न चिन्ह भी खड़ा हो रहा है आखिर शिकायत सही पाए जाने पर भी कोटेदार पर कार्यवाही में इतनी देर क्यों? ग्रामीणों ने जिला अधिकारी को शिकायती पत्र भेज कर कार्यवाही की मांग की है ग्रामीणों का कहना है कि कोटेदार द्वारा राशन वितरण में काफी मनमानीव घपलेबाजी की जा रही थी । जिसको लेकर ग्रामीणों ने तहसील प्रशासन से शिकायत की थी क्षेत्रीय खाद्य अधिकारी द्वारा 23 नवंबर को शिकायत को संज्ञान में लेकर मामले की जांच की गई थी जांच के दौरान कार्ड धारकों के बयान के आधार पर कम राशन देने और अधिक पैसे लेने का मामला जांच में उजागर हुआ। मामले में कोटेदार हो नोटिस भी जारी की गई थी बावजूदकोई कार्यवाही नही हुई जिसको लेकर बतौर ग्रामीण राम नरेश यादव ,राम अवतार ,वीरेंद्र यादव ,रविंद्र कुमार ,मन बहाल, राजाराम, पाटेश्वरी प्रसाद ने आक्रोश जताते हुए जिलाधिकारी से कार्यवाही की मांग की है लोगों का कहना है कि यदि कोटेदार के खिलाफ जल्द कोई ठोस कार्यवाही नहीं हुई तो ग्रामीण जिला अधिकारी कार्यालय व क्षेत्र के विधायक के आवास पर प्रदर्शन भी करेंगे इस संबंध में उप जिला अधिकारी इटवा उत्कर्ष श्रीवास्तव ने कहा कि मामला संज्ञान में है कोटेदार को रिमाइंडर ज्योति भेजी गई है जल्द ही आवश्यक कार्यवाही की जाएगी

भीलोरी चौराहे के पास पेट्रोल पंप का बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने किया उद्घाटन, भारी संख्या में क्षेत्रीय लोग रहे मौजूद

इटवा सिद्धार्थ नगर। रविवार को विधानसभा क्षेत्र के भीलोरी चौराहे के पास में सर्व फ्यूल सेंटर (पेट्रोल पंप) का क्षेत्रीय विधायक बेसिक शिक्षा मंत्री डॉ सतीश चंद्र द्विवेदी ने फीता काटकर उद्घाटन किया। क्षेत्र के लोगों को डीजल व पेट्रोल के लिए दूरदराज नहीं जाना पड़ेगा।इस दौरान ब्लॉक प्रमुख खुनियांव Manoj Maurya , Akhilesh Maurya , Umesh Maurya , Sonu Jaiswal , Shubhankar Srivastav, Baljee Maurya समेत मौर्य एकता मिशन – सिद्धार्थनगर के सम्मानित सदस्य गण व क्षेत्रीयजन भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।