17 वर्षीया अफसर जहां की मौत का हुआ खुलासा , लापता बालिका की मिले लाश का मामला

शोहरतगढ़/सिद्धार्थनगर। ढ़ेबरुआ थानाक्षेत्र के खजुरिया शर्की में गत 08 दिसम्बर की सुबह गांव के ही सीवान मेें 17 वर्षीया लापता बालिका की लाश के मामले में ढ़ेबरुआ पुलिस ने खुलासा गुरुवार को किया दिया है। चार नामजद आरोपियों में तीन को पुलिस ने धारा 302/201 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया और एक आरोपी को पुलिस अभी तक गिरफ्तार नहीं कर पायी। प्राप्त जानकारी के मताबिक ढ़ेबरुआ थाना परिसर में गुरुवार को पत्रकार-वार्ता में क्षेत्राधिकारी शोहरतगढ़ सुनील कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। जिसमें गत 08 दिसम्बर को 17 वर्षीया अफसर जहां की हत्या का खुलासा किया गया। इस दौरान पुलिस ने बताया कि मृतका की बात-चीत जमीरुल्लाह पुत्र इलियास उर्फ कल्लू व अरमान पुत्र महबूब निवासी जिगिना परसा थाना इटवा से फोन के माध्यम से हो रही थी और गत 02 दिसम्बर को मृतका जमीरुल्लाह के साथ भाग गयी। परन्तु पारिवारिक दबाव को बढ़ता देख जमीरुल्लाह अपने बड़े भाई मो.कासिम उर्फ गामा पुत्र इलियास उर्फ कल्लू निवासी खजुरिया शर्की थाना ढ़ेबरुआ, अरमान पुत्र महबूब निवासी जिगिना परसा थाना इटवा व यार मोहम्मद पुत्र रफातुल्लाह निवासी भोजवारी ग्रान्ट थाना ढ़ेबरुआ के साथ मृतका अफसर जहां को लेकर अपने गांव खजुरिया शर्की पहुंचा और मृतका को घर जाने के लिए कहा परन्तु मृतका वापस घर जाना नहीं चाहती थी। दोनों में वहीं विवाद होने लगा और जमीरुल्लाह ने मृतका के सिर पर पीछे से लोहे के राड से मार दिया। जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। उसके बाद चारों लाश को वहीं पुआल से ढ़क कर भाग गये। जमीरुल्लाह 04 दिसम्बर को मुम्बई भाग गया। 08 दिसम्बर को सुबह मृतका की लाश मिलने के बाद पुलिस नामजद चारों आरोपियों की तलाश में जुट गयी। 13 दिसम्बर को भोर में 05.30 बजे प्रभारी थाना निरीक्षक राजेन्द्र बहादुर सिंह के नेतृत्व में पुलिस टीम थानाक्षेत्र के ही झकहिया चौराहे पर मो.कासिम उर्फ गामा पुत्र इलियास उर्फ कल्लू निवासी खजुरिया शर्की थाना ढ़ेबरुआ, अरमान पुत्र महबूब निवासी जिगिना परसा थाना इटवा व यार मोहम्मद पुत्र रफातुल्लाह निवासी भोजवारी ग्रान्ट थाना ढ़ेबरुआ को गिरफ्तार कर लिया। जबकि जमीरुल्लाह पुत्र इलियास को पुलिस अभी तक गिरफ्तार नहीं कर सकी है। आरोपियों कै गिरफ्तार करने गयी टीम में उपनिरीक्षक सुरेश यादव, उपेन्द्र सिंह, हेड कांस्टेबल दुर्विजय यादव, संजीत श्रीवास्तव श व आदर्श श्रीवास्तव शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *