बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत के लिए राष्ट्रव्यापी जन संवाद कार्यक्रम का आयोजन

IMG-20200113-WA0136.jpg

शोहरतगढ़/सिद्धार्थनगर
बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत के लिए राष्ट्रव्यापी जन संवाद कार्यक्रम के तहत नगर पंचायत शोहरतगढ़ के मारवाड़ी धर्मशाला में आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि डुमरियागंज सांसद जगदंबिका पाल ने कहा कि बाल हित के लिए सभी विभागों को जागरूक रहकर सहभागिता देते हुए कार्य करने की जरूरत है, ताकि भारत नेपाल सीमा पर स्थित जनपद सिद्धार्थनगर में बच्चों के साथ होने वाले अपराध, दुर्व्यवहार व दुर्व्यापार पर अंकुश लगाया जा सके।बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत के लिए आज एकजुटता से आवाज उठाने की जरूरत है।हमारे एक छोटे से प्रयास व जागरुकता से किसी बच्चे व परिवार का जीवन सुखी हो सकता है। जनसंवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मानव सेवा संस्थान सेवा गोरखपुर के निदेशक राजेश मणि ने कहा कि किसी भी अपराध को रोकने के लिए सभी के सहयोग और सहभागिता की जरूरत होती है। व्यवस्था को मूर्त रूप से क्रियान्वयन की विशेष जरूरत है। जनपद के 19 थाना क्षेत्रों से आए हुए बाल कल्याण अधिकारियों व जनसंवाद कार्यक्रम में बच्चों के साथ होने वाली दुर्व्यापार, अत्याचार, कुपोषण, बालश्रम तथा बाल संरक्षण में आने वाली चुनौतियां के साथ-साथ बच्चों के समन्वयित विकास की आवश्यकता के लिए किए जाने वाले कार्य को लेकर विचार-विमर्श हुआ। चाइल्ड लाइन केयर सेंटर सिद्धार्थनगर के समन्वयक सुनील उपाध्याय ने बताया कि 1 वर्ष के भीतर 288 बच्चों को चाइल्ड लाइन सेंटर के आश्रय ग्रह में सुरक्षा दी गई। चाइल्ड लाइन के 8 साल के सेवाकाल में लगभग 1900 बच्चों को सुरक्षित करते हुए उन्हें संरक्षण दिया गया। जीएमआरपीके निदेशक डॉक्टर वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र में हो रहे आए दिन मानव तस्करी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए नागरिकों के बीच जागरूकता व दोनों देशों की सामुदायिक सहभागिता को लेकर चर्चा किया। जनपद में बाल शेल्टर होम की आवश्यकता पर जोर देने की बात कही। उन्होंने कहा कि व्यवस्था को मूर्त रूप में क्रियान्वयन की जरूरत है। विभिन्न थाना क्षेत्रों से आए हुए बाल कल्याण अधिकारी ने थानों में बच्चों को शरण देने और उनके साथ आने वाली समस्याओं पर भी चर्चा किया। जनसंवाद कार्यक्रम में बाल कल्याण समिति, टास्क फोर्स, बाल अपराध, बाल अधिकार, मानव तस्करी, ज्वेलाइन कोर्ट, अनाथालय, चाइल्डलाइन सेंटर, बच्चों को बाल आश्रम में रखने की व्यवस्था आदि विषयों पर संवाद कार्यक्रम में जानकारी उपलब्ध कराई गई। तहसीलदार राजेश कुमार अग्रवाल ने पुलिस विभाग, शिक्षा विभाग, आईसीडीएस विभाग, चाइल्डलाइन सेंटर, सीमावर्ती क्षेत्रों में मानव तस्करी रोकने आदि के संबंध में से बेहतर कार्य करने पर जोर देने की बात कही। इस दौरान महफूज बचपन से हरीश, शोहरतगढ़ थाना अध्यक्ष राम आशीष यादव, राम दरस आर्य, नन्दू गौतम, अपूर्व श्रीवास्तव, देवेंद्र सिंह, राणा प्रताप सिंह, श्रीधर पांडेय, श्री निवास मीना एसएसबी, विनोद मिश्रा सीडव्लूसी, महेश कुमार, प्रमोद कुमार चौधरी, के पी सिंह ,अभय सिंह, राकेश राज, जीपी तिवारी आदि लोग सहित बाल कल्याण समिति सदस्य मौजूद रहे।

फोटो…….शोहरतगढ़ के मारवाड़ी धर्मशाला में बाल दुर्व्यापार मुक्त भारत के लिए आयोजित राष्ट्रव्यापी जन संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डुमरियागंज सांसद जगदंबिका पाल व उपस्थित लोग।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *