केंद्रीय टीम ने जाना मॉडल आरोग्य केंद्र हाल, मार्गदर्शन किया , उसका ब्लाक क्षेत्र के तीन गांवों में बने हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का किया दौरा , सुविधाओं को लेकर दी जानकारी, मरीजों को बेहतर उपचार देने का निर्देश

सिद्धार्थनगर। जिले में सोमवार को केंद्रीय टीम ने उसका ब्लाक क्षेत्र में बने मॉडल हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का दौरा कर हाल जाना। वेलनेस सेंटर पर तैनात लोगों का मार्गदर्शन किया एवं सुविधाओं को लेकर जानकारी दी। टीम में मरीजों को बेहतर उपचार देने का भी निर्देश दिया। माडल हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का निरीक्षण करने पहुंची टीम में कंसलटेंट डा. गरिमा एनएचएसआरसी, दिल्ली), कंसलटेंट डा. हर्षा (एनएचएसआरसी, दिल्ली), जीएम डा. राजेश झा (सीपी, एनएचएम), एमएसटी आफिसर राजकिशोर एनएचएम) शामिल रहे। टीम ने जिले के उस्का ब्लाक क्षेत्र के सजनी ग्राम सभा में बने माडल हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का निरीक्षण करते हुए बताया कि गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों को अब उपचार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। उन्हें गांव के नजदीकी आरोग्य केंद्र पर ही उपचार मिल जाएंगे।
डॉ. हर्षा ने वेलनेस सेंटर पर तैनात टीम का मार्गदर्शन करते हुए कहा कि प्रदेश में सिद्धार्थनगर के सजनी ग्राम सभा का वेलनेस सेंटर माडल केंद्र है। यह सेंटर लोगों के आकर्षण के केंद्र के साथ सरकारी सुविधाएं लेने को प्रेरित करेगा। सेंटर पर आने वाले प्रत्येक मरीज को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराना सबकी जिम्मेदारी है। टीम ने ओपीडी, प्रसव पूर्व देखभाल कक्ष, खून चेकअप केंद्र, मेडसिन केंद्र का भी निरीक्षण किया। टीम ने इसके अलावा महुलानी व पकड़ी उपकेंद्र का निरीक्षण कर हाल जाना। यहां भी वेलनेस सेंटर को लेकर मार्गदर्शन किया। इस दौरान डीभीपीएम अरविंद पांडे, आर एम रंजीत चक्रवर्ती, डीसीपीएम मानबहादुर, शरद मौजूद रहे। आरोग्य केंद्र पर मरीज हीमोग्लोबिन, टीएलसी/डीएलसी, पेरिफेरल स्मेयर, ब्लड ग्रुपिंग, मूत्र द्वारा गर्भ की जांच, यूरिन डिपेस्टिक द्वारा (अल्बोमिन एवं ग्लूकोज की जांच) ब्लड ग्लूकोज- ग्लूकोमीटर, मलेरिया की जांच हेतु स्लाइड बनाना, रैपिड डायग्नोस्टिक किट द्वारा, डेंगू, चिकनगुनिया, फाइलेरिया, मलेरिया, कालाजार आदि का रैपिड टेस्ट, रैपिड सिफलिस टेस्ट, टायफाइड टेस्ट, हेपेटाइसिस टेस्ट, बलगम जांच के लिए सैम्पल एकत्र करना एवं माइक्रोस्कोप से जांच करा सकेंगे। आरोग्य केंद्र के शुरूआती में गर्भावस्था एवं शिशु जन्म देखभाल, नवजात एवं शिशु स्वास्थ्य देखभाल, बाल स्वास्थ्य एवं किशोरावस्था स्वास्थ्य देखभाल, परिवार नियोजन, गर्भनिरोधन सेवाएं एवं अन्य प्रजनन स्वास्थ्य देखभाल, संचारी रोगों का प्रबंधन- राष्ट्रीय स्वास्थ्य कार्यक्रम, बाह्य रोगियों का साधारण बीमारियों का उपचार, गैर संचारी रोगों की स्क्रीनिंग, रेफरल एवं फालोअप की सुविधा मिलेगी।

इटवा:- नर्सिंगहोम, अल्ट्रासाउंड व पैथोलॉजी के अवैध संचलन पर नहीं लग रहा अंकुश,कई नरसिंहहोम के अन्दर संचालित हो रहे अल्टासाउन्ड मशीन ,मेडिकल स्टोर पर बिक रही प्रतिबंधित दवायें

इटवा, सिद्धार्थनगर। जनपद के इटवा कस्बे में इन दिनों दर्जनों से अधिक मेंडिकल सेन्टर ,नरसिंह होम व पैथालाजी अवैध रुप से संचालित है। इतना ही नहीं सरकारी अस्पताल के इर्द गिर्द भी खुलेआम मेडिकल मानको की धज्जियां उड़ाई जा रही है। कमीशन व सुविधा शुल्क के खेल में स्वास्थ्य विभाग के जिम्मेदार इन अवैध मेंडिकल सेन्टरों को खुला संरक्षण दे रहे है। जब कि मेंडिकल स्टोर संचालन के लिये फार्मासिष्ट , नरसिंहहोम के लिये जिस पैथी से चलाना है उसी पैथी का प्रशिक्षित चिकित्सक के अलावा प्रयाप्त संशाधन व स्टाप नर्श की आवश्यकता है। इसके अलावा लैब व आफिस आदि की प्रयाप्त ब्यवस्था होनी चाहिये । वहीं पैथालोजी के लिये रेडियोलाजिस्ट एवं लैब आदि होना जरुरी है। बावजूद मानको को दरकिनार कर इटवा कस्बे सहित क्षेत्र के संग्रामपुर , कठेला , मिठौवा , बढ़या आदि स्थानों पर अप्रक्षित लोग सेन्टर चला रहे है।
मेडिकल स्टोर पर बिक रही प्रतिबंधित दवायें
इटवा , कस्बे के अधिकांश मेडिकल स्टोर पर प्रतिबंधित दवायें खुलेआम बेची जा रही है। बावजूद विभाग के जिम्मेदार कार्यवाही व जांच की जहमत नहीं उठा रहे है।
कई नरसिंहहोम के अन्दर संचालित हो रहे अल्टासाउन्ड मशीन
क्षेत्र के विभिन्न मांर्गो व गलियों में संचालित विभिन्न नरसिंहहोम में अल्टासाउन्ड मशीनों का संचालन चोरी छुपे कर रहे है। जो गर्भवती महिलाओं के जांच के नाम पर मोटा धन वसुलने के साथ ही लिंग जांच को लेकर भी चर्चा में है।

कामनवेल्थ वोकेशनल यूनिवर्सिटी किंग्डम आफ टोंगा के तत्वाधान में आयोजित 10 मार्च 2019 को मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय कान्फ्रेंस मैं होम्योपैथी के क्षेत्र में पूर्वांचल के प्रसिद्ध चिकित्सक डा. भास्कर शर्मा किये गए सम्मानित

कामनवेल्थ वोकेशनल यूनिवर्सिटी किंग्डम आफ टोंगा के तत्वाधान में आयोजित 10 मार्च 2019 को मुंबई में अंतर्राष्ट्रीय कान्फ्रेंस मैं पूर्वांचल के प्रसिद्ध होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ भास्कर शर्मा को विजनरी लीडरशिप अवॉर्ड 2019 से नवाजा गया है l1 यह पुरस्कार डॉक्टर शर्मा को होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति में शोध कार्य तथा देश विदेश में होम्योपैथी के प्रचार प्रसार के लिए दिया गया है lयह अवॉर्ड डॉ भास्कर शर्मा विश्वविद्यालय के रजिस्टार डॉ आर मित्तल जी, डॉक्टर प्रियदर्शी नायक जी, प्रोफेसर एम एम पंत जी ने प्रमाण पत्र, गोल्ड मेडल, साल प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया l पूर्व में डॉक्टर सैमुअल हैनीमैन इंटरनेशनल अवॉर्ड लंदन ,वरिष्ठ होम्योपैथिक इंटरनेशनल अवॉर्ड सिंगापुर, डॉ एलेन इंटरनेशनल अवॉर्ड थाईलैंड,डॉक्टर कैंट इंटरनेशनल अवॉर्ड मलेशिया, ग्लोबल आइकॉन पर्सनैलिटी ऑफ होम्योपैथी दुबई, होम्योपैथी शिरोमणि इंटरनेशनल अवॉर्ड मस्कट, होम्यो भूषण काठमांडू ,होम्योपैथी श्री गोवा,होम्योपैथी रत्न मुंबई आदि देश विदेश से सैंकड़ों से अधिक राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुके हैंl पुरस्कार मिलने पर डॉ भास्कर शर्मा को डॉक्टर आरडी कुशवाहा ,डॉक्टर सुनील पांडे, डॉ हरीश मिश्रा, डॉ अमरेंद्र गौर,डॉक्टर नसीम, डॉ अमरनाथ गुप्ता, डॉक्टर अरुणिमा राय,डॉ शिवेंद्र सिंह,डॉक्टर सतीश आर्य,डॉक्टर नीरज मौर्य,डॉक्टर गयासुद्दीन, डॉक्टर नीलम शुक्ला, डॉक्टर जीनत परवीन डॉ प्रीति गुप्ता डॉक्टर सुमन सिंह,डॉ रिया गौतम, डॉक्टर महेंद्र मयंक, डॉक्टर नरेश शर्मा, डॉक्टर हलीम, डॉक्टर जितेंद्र, मौर्य डॉक्टर फूलमती मौर्य डॉक्टर सुरेश मौर्य,डॉ प्रांजल मौर्य, डॉक्टर अविनाश कुमार,डॉक्टर प्रभु चावला, डॉक्टर नीतीश कुमार, डॉ पूर्वा वर्मा, डॉक्टर अंकुश लाल, संतोष,महेश, बिलाल अहमद, रजनीश , पंकज, सुधीर, अंजुम, नीलिमा , सुधा आदि लोगों ने बधाइयां दीl

सूचना : उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षा परिषद लखनऊ की मंगलवार को होने वाली परीक्षा रविदास जयंती व माघ पूर्णिमा के कारण हुई स्थगित

मेराज़ मुस्तफा

सिद्धार्थनगर : यूपी बोर्ड के साथ-साथ उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षक परिषद लखनऊ द्वारा चल रही बोर्ड परीक्षाओं में मंगलवार उन्नीस फरवरी को प्रथम व द्वितीय पाली में होने वाली परीक्षा को संत रविदास जयंती व माघ पूर्णिमा के कारण स्थगित कर दिया गया है । उत्तर प्रदेश मदरसा शिक्षक परिषद के रजिस्ट्रार कार्यालय द्वारा जारी आदेश को समस्त जिलों के अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी एवं समस्त केन्द्र व्यवस्थापकों लिखित रूप से दे दी गई है व स्थगित परीक्षा पांच मार्च को पूर्व निर्धारित समय पर होगी एवं अन्य तिथियों को होने वाली परीक्षा यथावत रहेगी।
इस विषय पर मदरसा शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष शाहिद हुसेन ने कहा कि अभी कुछ देर पूर्व लिखित रूप से आदेश पत्र प्राप्त हुआ है इसलिए मदरसा शिक्षा परिषद के अंतर्गत सभी परीक्षार्थियों को इस विषय में शायद जानकारी न हो इसलिए सभी पत्रकार बन्धुओं से निवेदन है कि उपरोक्त सूचना को प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने की कोशिश करें।

इटवा :- दस्तक- 4 अभियान का शुभारंभ कर प्रचार – प्रसार के लिए जन जागरूकता रैली निकाली और लोगो को दी गयी जानकारी , अभियान 10 फरवरी से 28 फरवरी तक चलेगा:—उपजिलाधिकारी

इटवा , सिद्धार्थनगर । रविवार को उपजिलाधिकारी इटवा त्रिभुवन कुमार की अध्यक्षता में दस्तक- 4 अभियान का शुभारंभ कर जन जागरूकता एवं प्रचार – प्रसार के लिए रैली निकाली गई ।यह रैली सामुदायिक चिकित्सालय इटवा से प्रारंभ होकर ब्लाक संसाधन केंद्र इटवा में समाप्त हुई। इस रैली के माध्यम से लोगों को जागरूक करते हुए संदेश दिया गया कि दस्तक- 4 अभियान का प्रारंभ हो चुका है। यह अभियान 10 फरवरी से 28 फरवरी तक चलेगा। इस अभियान में आशा एएनएम घर- घर जाकर सफाई के बारे में गांव वासियों को जागरूक करेंगी और साफ सफाई के महत्व को बताएंगी। साथ ही दिमागी बुखार, मलेरिया , आदि बुखार के बारे में लोगों को जागरूक करेंगे । यदि कोई व्यक्ति बुखार से पीड़ित है तो तो तत्काल समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भर्ती कराएंगी और सामान्य बुखार की दशा में उनका परीक्षण कराएंगी। उनको आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए जाएंगी। इस अभियान के साथ दिनांक 25 फरवरी से 8 मार्च तक एई जेईएस दिमागी बुखार का टीका करण भी किया जाएगा । साथ ही खंड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि गांव में जहां भी गंदगी है , सफाई कर्मी लगाकर सफाई करवाना सुनिश्चित करें। साथ ही आशा एएनएम घर घर सर्वे के दौरान किसी भी जगह गंदगी पाती हैं तो तत्काल खंड विकास कार्यालय को सूचित करें ताकि सफाई सुनिश्चित किया । इस कार्यक्रम में प्रभारी चिकित्सा अधिकारी इटवा डा .बीके वैद्य ,प्रधानाध्यापक प्राथमिक विद्यालय इटवा , brc समन्वयक मो .खालिद के अलावा डॉक्टरों की टीम एवं छात्र छात्राओं ने भाग लिया।

जिला जज गौरी शंकर गुप्ता के आकस्मिक निधन पर थाना शोहरतगढ़ में शोक सभा का हुआ आयोजन

शोहरतगढ़/सिद्धार्थनगर। पूर्व में जिला जज सिद्धार्थनगर रह चुके गौरीशंकर गुप्ता, जिनके द्वारा सिद्धार्थनगर न्यायालय को एक नया रूप दिया गया था। जिनका स्थानान्तरण जिला जज सिद्धार्थनगर से जिला जज सीतापुर को हुआ था। बीते बीते रविवार को जनपद सीतापुर से जनपद प्रयागराज जाते समय रास्ते में नवाबगंज थाना क्षेत्र के टिकरी गांव के पास बस ने उनकी कार में जोरदार टक्कर मार दिया था। इस दुर्घटना में जिला जज गौरीशंकर गुप्त गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उन्हें गंभीर अवस्था में एयर एंबुलेंस से मेदांता अस्पताल गुड़गांव भेजा गया था। जहां पर उनका इलाज चल रहा था। मंगलवार की रात उन्होने अन्तिम साँस ली। थाना परिसर शोहरतगढ़ में गुरुवार को थाना प्रभारी रणधीर कुमार मिश्रा की अगुवाई में जिला जज की असामयिक मृत्यु के कारण शोक सभा का आयोजन कर मृत आत्मा की शान्ति के लिए ईश्वर से प्रार्थना किया गया। इस दौरान उ.नि. ललित मोहन राव, उ.नि. हरेन्द्र कुमार सिंह, उ.नि. अनुज कुमार यादव, उ.नि. रमाशंकर राय, उ.नि. रामनगीना यादव, म.उ.नि. गौरी शुक्ला, उ.नि. पप्पू कुमार, उ.नि. जीवन त्रिपाठी सहित अनय अधिकारी/कर्मचारीगण व जनतागण शामिल रहे।

रूबैला टीकाकरण का लक्ष्य पूरा करने की तेजी , जिले में 9.80 लाख टार्गेट के सापेक्ष 7.80 नौनिहालों को लगा टीका

सिद्धार्थनगर।स्वास्थ्य विभाग ने जिले में नौनिहालों में लगाए जा रहे मीजिल्स रूबैला टीकाकरण का लक्ष्य पाने के लिए अभियान में तेजी लाइ है। दो माह से चल रहे अभियान में अब तक 9.80 लाख के सापेक्ष 7.80 लाख नौनिहालों का टीकाकरण हो सका है। बचे लोगों तक पहुंचने के लिए टीम सक्रिय हो गयी है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा खसरा एवं रूबैला जैसी गंभीर बीमारियों को मात देने के लिए जिले में 26 नवंबर2018 से मीजिल्स रूबैला टीकाकरण अभियान चला रहा है। जिसमें 9 माह से 15 वर्ष की आयु के नौनिहालों को गांव, गली, स्कूलों, मदरसों में जाकर टीका लग रहा है। दो माह बीतने के बाद 25 जनवरी को आए रिपोर्ट के बाद निर्धारित लक्ष्य 978588 के सापेक्ष 199097नौनिहालों में टीकाकरण होने से विभाग लक्ष्य पाने के लिए टीकाकरण कर रही टीमों को सक्रिय कर अभियान में तेजी लाया है। ब्लाकवार आए रिपोर्ट के मुताबिक जिले के 14ब्लाकों में 74865 हजार के लक्ष्य के सापेक्ष पर 72189 हज़ार लोगों में टीकाकरण कर नौगढ़ ब्लाक सबसे आगे है, जबकि 119564 में टीकाकरण केसापेक्ष 61393 लोगों को टीकाकरण कर डुमरियागंज सबसे अंत में है। जिला नोडल अधिकारी डॉ. सौरभ चतुर्वेदी ने बताया कि रूबैला वायरस है। जो गर्भावस्था के दौरान अपना असर दिखाता। इस वायरस से जन्मजात शिशु रोगी, अंधापन, बहरापन, कमजोर दिमाग, जन्मजात दिल की बीमारी, निमोनिया, दस्त सहित कई अन्य बीमारियां देता है। जिससे लोगों को मृत्यु तक हो जाती है। इससे बचने के लिए मीजिल्स रूबैला टीकाकरण अभियान चल रहा है। लक्ष्य पूरा करने के लिए टीमों को छूटे स्कूलों व समुदाय में जाने के लिए सक्रिय किया गया है। लक्ष्य पूरा होने तक अभियान चलता रहेगा।

* सुरक्षित है वैक्सीन
स्वास्थ्य विभाग नियमित टीकाकरण में पहले नौनिहालों को खसरा के बचाव के लिए खसरा वैक्सीन देता था, उसी जगह पर अब खसरा एवं रूबेला दोनों साथ दिया जा रहा है। नए टीके का डोज पुराने खसरे की तरह बिल्कुल सुरक्षित है। यह टीका संयुक्त रूप से बचाव करेगा दोनों रोगों से ।

तहसीलदार इटवा राजेश अग्रवाल के संयोजन में हुआ तीन दिवसीय नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन

जमील खान, इटवा, सिद्धार्थनगर

कहते हैं कि नेत्र दान महादान। इसी से प्रेरणा लेते हुए सिद्धार्थनगर जनपद में इटवा तहसील के तहसीलदार राजेश अग्रवाल ने गरीबों के लिए 3 दिन का मुफ्त नेत्र परीक्षण कैम्प लगवाया। जिसमें उपजिलाधिकारी इटवा के साथ साथ सभी तहसील परिसर के कर्मचारियों का सहयोग रहा।

इटवा तहसील परिसर में तहसीलदार इटवा राजेश अग्रवाल के संयोजन में तीन दिवसीय निःशुल्क नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया गया। पहले दिन में 150 गरीब महिलाओं, बुजुर्गों ने नेत्रों की जांच कराई।मरीजों की ज़रूरत के अनुसार दवा व चश्मों का मुफ्त वितरण किया गया।

तहसीलदार इटवा नेत्र परीक्षण शिविर में

इस दौरान डॉक्टरों की टीम ने लोगों को आंखों की सही देखभाल के बारे में जागरूक किया। उन्होंने मरीजों को सुबह-शाम ठंडे पानी से आंखे धोने, रात को आठ घंटे की पूरी नींद लेने, कंप्यूटर और मोबाइल का प्रयोग कम करने, तेज धूप में बिना चश्मे के बाहर ना निकलने के बारे में जागरूक किया।

शिविर का उदघाटन बतौर मुख्य अतिथि इटवा विधायक डॉ. सतीश द्विवेदी ने फीता काट कर किया।

उपजिलाधिकारी इटवा त्रिभुवन कुमार ने डॉक्टरों की टीम का आभार व्यक्त किया।

तहसीलदार इटवा ने बताया कि ये शिविर 3 दिन (23 जनवरी) तक चलेगा। जिसमें लखनऊ, भैरहवाँ व जिले के डॉक्टरों की टीम रहेगी। शिविर में पंजीकृत मरीजों को दवा, चश्मा, मोतियाबिंद की जांच व ऑपरेशन मुफ्त है।

उप जिलाधिकारी इटवा की मौजूदगी में विकासखंड खुनियाव में कन्वर्जेंस की हुई बैठक, पात्रो की सूची बना कर योजनाओ का लाभ दिलाने का दिया निर्देश

इटवा, सिद्धार्थनगर( 10 जनवरी ) बृहस्पतिवार को उप जिलाधिकारी इटवा त्रिभुवन कुमार कि उपस्थिती में विकासखंड खुनियाव में कन्वर्जेंस की बैठक की गई। इसमें आंगनवाड़ी ,आशा आदि उपस्थित रहे ।कन्वर्जेंस के संबंध में बताया गया कि आंगनवाड़ी और आशा कुपोषित एवं अति कुपोषित बच्चों के परिवार को राशन, पेंशन, मनरेगा कार्य शौचालय आदि की सूची बनाकर विकास विभाग, पंचायत विभाग पेंशन विभाग, पूर्ति विभाग से समन्वय स्थापित कर योजनाओं का लाभ दिलाएं ।जिससे छोटे बच्चे और प्रसूताओ को पयोजनाओं का लाभ मिल सके। विकास विभाग एवं पंचायती विभाग तथा पूर्ति विभाग अपनी जिम्मेदारियों को समझें और सुधार करे।

विभागीय संरक्षण में संचालित हो रहे कई दर्जन अबैध मेंडिकल सेन्टर , कुकुरमुत्ते की तरह आये दिन खुल रहे अबैध नरसिंहहोम , नहीं हो रही कार्यवाही

इटवा, सिद्धार्थनगर। इटवा कस्बा सहित क्षेत्र में कुकुरमुत्ते की तरह दर्जनों ऐसे नर्सिंग होम खुले हैंए जहां अप्रशिक्षित नर्स द्वारा मरीजों के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। इन नर्सिंग होम में ज्यादातर भ्रूण हत्याएं एवं प्रसव कार्य होता है। सरकारी अस्पताल से बेहतर सुविधा के नाम पर मोटी रकम तो वसूला ही जाता हैए मरीजों के जीवन पर भी खतरे की घंटी बजती रहती है। इटवा कस्बा में खुले इन नर्सिंग होम में वैसे तो सारी सुविधाएं का होने का दावा किया जाता हैए लेकिन हकीकत कुछ और होता है। मरीजों से पर्याप्त दवाइयों को मंगवाया तो जाता है पर पुनरू मेडिकल स्टोर पहुंचा कर उसका भी पैसा नर्सिंग होम द्वारा ले लिया जाता है। इन नर्सिंग होम में भ्रूणहत्याओं का खेल पुरजोर होता है।
अप्रशिक्षित नर्स द्वारा होती है सेवाएं
वैसे तो इन अवैध नर्सिंग होम में प्रशिक्षित नर्स के साथ ही चिकित्सक द्वारा बेहतर सुविधा दिए जाने का वादा किया जाता हैए लेकिन सब फर्जी होता है। न कोई डिग्री और न ही कोई प्रशिक्षण इन्हें प्राप्त होता है। महिलाओं के प्रसव में भी रुपए एंठने के लिए काफी रिस्क खेल जाती है। ऑक्सीजन रहते उसे इस्तेमाल भी नहीं किया जाता और ज्यादा स्थिति खराब होने पर मरणासन्न स्थिति में मरीज को रेफर कर दिया जाता है।

अबैध मेडिकल सेन्टरो का संग्रामपुर संग्रामपुर चैराहे पर भरमार , विभाग की मिली भगत से नहीं हो रही कार्यवाही
क्षेत्र के संग्रामपुर चैराहे पर इन दिनो अबैध मेंडिकल स्टोर व नरसिंहहोम की भरमार है। शिकायत के बाद भी कार्यवाही करने से विभाग के जिम्मेदार कतरा रहे है। जिसके कारण फर्जी चिकित्सको की भरमार है। क्षेत्र की कई आशा बहू भी इन फर्जी चिकित्सको के संपर्क में है। जो मरीजों को सरकार के बजाय मोटी कमीशन के फेर में इन अबैध व झोलाछाप के पास भेज रही है। क्षेत्र के मनीश कुमार ख् राम कृपाल, महीबुल्लाह , अफसर खान आदि ने प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग से उक्त मेंडिकल सेन्टरो व नरसिंहोम पर कार्यवाही की मांग की है।
……………………