कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय सिसवंा बुजंर्ग में समस्याओं का अंबार

 

           कार्यवाही के आभाव  में जिम्मेदारो की लापरवाही का दंश झेल रही बालिकायें

  • स्टाफ के अभाव में धूल फांक रहा है कम्यूटर

इटवा, सिद्धार्थनगर। इटवा विकास क्षेत्र के ग्राम सिसवां बुजर्गं में स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की छात्राए जिम्मेदारो की उदासीनता का दंश झेलने को मजबूर है। कार्यवाही के आभाव में अभिभावक व छात्राओं का इस विद्यालय से मोह भंग हो रहा है। शायद यही कारण है कि दिन प्रतिदिन यहां छात्राओं की संख्या में कमी हो रही है। नामांकन के सापेक्ष यहां चन्द छात्राएं ही शिक्षा ग्रहण कर रही है। बताया जाता है कि यहां अधिकांश स्टाफ नानाप्रकार के बहाने बनाकर अैार विद्यालय से अपने गांव चले जाते है dsc00754और हफ्तो गायब रहते है। एक तो स्टाफ की कमी दूसरे कर्मियों व अध्यापको का अक्सर गायब रहना यहां के बालिकाओं को अखर रहा है। गांव के बाहर बने इस विद्यालय पर समय पर भोजन व नास्ता भी न दिये जाने की शिकायत है। बताया जा रहा है कि यही कारण है कि जो बच्चियां छुटटी आदि में घर चली जाती है वे दुबारा वापस बड़ी मंुश्किल में हो रही है। इसके अलावा अधूरे बाउन्ड्रीबाल से परिसर मे जंगली सुअर व अन्य पशुओं का भी भय रहता है। गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवार के बच्चियों को निःषुल्क षिक्षा तथा अन्य संसाधन मुहैया कराकर स्वावलम्बी बनाना शासन की मंषा पर यहां पूरी तरह पानी फिरता नजर आ रहा है। साथ ही एकाउन्टेन्ट पर कभी कभार आने का आरोप है। यहां स्टाफ के नाम पर वार्डेन आशा गुप्ता, फुलटाइम टीचर माया मौर्या ,पार्ट टाइम टीचर काजी सब्बर अजीज, मुख्य रसोईया सुनीता पासवान, सहायक रसोईया मंजू देवी तथा शैलेष कुमार के अलावा एक एकाउन्टेन्ट की तैनाती बताई जा रहही है। लेकिन ग्रामीणों का कहना है कि कभी एक साथ सारे स्टाफ देखने को नहीं मिलते । किसी न किसी बहाने अक्सर गायब रहने की मानों परम्परा सी हो गई है। छात्राओं ने तेल , साबुन के अलावा खानापान सामग्री में भी लापरवाही करने का आरोप लगाया है। उत्तर तरफ की बाउंड्री वाल बना ही नहीं है। सामने का गेट और बाउंड्री वाल टूटा गया है। वार्डेन आशा गुप्ता ने बताया जो शासन व विभाग द्वारा जो सुविधा दी जा रही है, उसी के अनुसार अच्छा से अच्छा सुविधा देने का प्रयास करती हूं। बीईओं राजेष कुमार ने कहा कि जांच की जायेगी।

अन्तर्राष्ट्रीय सम्मान समारोह में देश व विदेश के साहित्यकारों ने हिस्सा लिया

डा0 जंगबहादुर चौधरी

इटवा (सिद्धार्थनगर)    सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान के इटवा बाजार के तत्वाधान में रविवार देर सायं ब्लाक संसाधन केन्द्र इटवा परिसर में अन्तर्राष्ट्रीय सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस सम्मान समारोह में देष के 25 राज्यों के साथ-साथ पड़ोसी देष नेपाल, भूटान और सुदूर व अमेरिका के साहित्यकार व कबियों एवं लेखको ने भारी संख्या हिस्सा लिया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विक्रमषिला हिन्दी विद्यापीठ भागलपुर के अधिष्ठा एवं पूर्व प्राचार्य (रूड़की) डा. योगेन्द्र नाथ षर्मा ‘अरूण’ एवं विषिष्ट अतिथियों में आॅयनाक्स अन्तर्राष्ट्रीय विष्वविद्यालय (महाराष्ट्र) के कुलपति डा. चन्द्रभान भोयर, ग्लोबल विक्टोरिया युनिवर्सिटी (अमेरिका) के डायरेक्टर डा. अभिराम कुलश्रेठ, राष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था नागपुर के महासचिव डा. अनमोल देपुर्णे, भारतीय नौसेना के पूर्व कमाण्डर डा. पी. बी. निगम, पड़ोसी देष नेपाल से पधारे साहित्यकार छत्रपति भुएल तथा नेपाल से ही पधारी साहित्यकार सुश्री सुरू सुबेदी थे।
कार्यक्रम की षुरूआत मुख्य अतिथि एवं विषिष्ट अतिथियों द्वारा द्वीप प्रज्ववलित के साथ किया गया। तत्पष्चात् सरस्वती वन्दना एवं माल्र्यापण कर अतिथियों का स्वागत किया गया। उसके कार्यक्रम आयोजक सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान के अध्यक्ष एवं प्रसिद्ध होम्योपैथिक चिकित्सक डा. भास्कर षर्मा ने अपने संबोधन में अतिथियो व उपस्थितगणों का स्वागत कर धन्यबाद ज्ञापित किया।

 

dsc_0226

कार्यक्रम में एक पुस्तक का बिमोचन करते हुये अतिथिगण
इन हस्तियों को प्रषस्ति पत्र देकर किया गया सम्मानित
सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान के इटवा बाजार के तत्वाधान आयोजित कार्यक्रम में राधेष्याम लेकाली (नेपाल), सुश्री अंजना पौडेल (नेपाल), उज्जवल जि. सी. (नेपाल), डा. गोपाल नारसन (हरिद्वार), सुरेन्द्र प्रसाद गिरी (नेपाल), छत्रपति फुएल (भूटान), डा. रघुवीर षर्मा (नेपाल), डा. यासमीन खान (मेरठ), अविनाष बागडे (नागपुर), डा. भोला सरवर (नागपुर), सुश्री रूनू बरूवा (असम), सुश्री जयश्री षर्मा (असम), डा. अषोक मधुप (दिल्ली), डा. हेमलता (बबली वषिष्ठ) (दिल्ली), डा. गीता डोगरा (पंजाब), बिषन सागर (पंजाब), डा. मधु प्रधान (उत्तर प्रदेष), सुश्री उषा षां (कोलकाता), कालीपद दास (प. बंगाल), डा. लक्ष्मी कान्त चोपकर (नागपुर), महेष सेंलुकर (नागपुर), क्षेत्र प्रेम मुखिया (दार्जिलिंग), डा. बाला साहेब बन्सोड (नागपुर), सुश्री उषा नन्दी (दार्जिलिंग), नरेन्द्र कुमार सिंह (बिहार), सुश्री पुनीता जैन (भोपाल), डा. अविनाष केवटे (नागपुर), ष्यामलाल भट्टाचार्य (कोलकाता), डा. चन्द्रभान भोयर (नागपुर), डा. रामजी प्रसाद (बिहार), डा. किंग गुरू घर्ती (मिजोरम), डा. विजय पण्डित (मेरठ), डा. हरि प्रसाद राठी (राजस्थान), डा. अनमोल टेंर्भुणे (नागपुर), विषाल कुमार छेत्री (नागालैण्ड), डा. राजाराम सिंह (नागपुर), प्रभाकर ठवरे (नागपुर), डा. रमेष नवलाखे (उमरेड), डा. रवि दिघोरे (नागपुर), डा. सन्तोष कोकुलवार (यवतमाल), डा. षीतल कोकुलवार (यवतमाल), देवराज लेकुरवाले (नागपुर), सुश्री उषा किरन सत्यदर्षी (दार्जिलिंग), डा. संदीप सरटकर (नागपुर), सुश्री षील निगम (महाराष्ट्र), डा. हीरालाल मेश्राम (नागपुर), डा. अविनाष साहुरकार (वर्धा), डा. अनिल साहुरकर (वर्धा), ओम प्रकाष (सिद्धार्थनगर), करूणेष मौर्य (इटवा), सागर सापकोटा (तेजपुर, असम), डा. सिम्मी भाटिया, मलिक इकबाल युसुफ (वरिष्ठ एडवोकेट) डुमरियागंज आदि को मुख्य अतिथि मुख्य विक्रमषिला हिन्दी विद्यापीठ भागलपुर के अधिष्ठाता एवं पूर्व प्राचार्य (रूड़की) डा. योगेन्द्र नाथ षर्मा ‘अरूण एंव आयोजक डा0 भास्कर षर्मा द्वारा प्रषस्ति पत्र, प्रतीक के रूप में गौतम बुद्ध की प्रतिमा और षाल प्रदान भेट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सथानीय प्रबुद्ध समाज की ओर से राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त षिक्षक अष्टभुजा पाण्डेय, मण्डल प्रबन्धक उपाध्याय, करूणेष मौर्या, राम विलास यादव, हरिहर सिंह पूर्व प्रधानाचार्य श्रीमती राजदेई देवी इण्टर कालेज खुनियांव, कृष्णा लाल यादव, प्रेम प्रकाष श्रीवास्तव, मलिक परवेज अहमद, मलिक जावेद अहमद, मलिक आसिफ अहमद, सुफियान अख्तर ने आयोजन में भागीदारी की। कार्यक्रम की अध्यक्षता लखनऊ से पधारे वरिष्ठ साहित्यकार एवं चित्रकार डा. राजेन्द्र परदेसी एवं संचालन बस्ती जनपद के मूल निवासी और वर्तमान में भारतीय राज दूतावास काठमाण्डू में हिन्दी और संस्कृत अधिकारी डा. रघुवीर षर्मा ने किया।

बकाया मानदेय न मिलने से आक्रोषित प्रेरको ने बीएलओ ड्यूटी का बहिस्कार किया

डा० जंगबहादुर चौधरी

  • तहसील परिसर में प्रदर्शन कर एसडीएम इटवा को ज्ञापन सौपा


इटवा, सिद्धार्थनगर। विगत 24 माह से अधिक समय से बकाया मानदेय को लेकर आक्रोषित प्रेरकों ने सेामवार को विधानसभा चुनाव की मतदाता सूची का पुनरीक्षण कार्य का बहिस्कार कर दिया। बीएलओं कार्य में लगे प्रेरको ने सोमवार को प्रेरक संघ के इटवा ब्लाक अध्यक्ष राजेष कुमार विष्वकर्मा की अगुवाई में इटवा तहसील पहुंच कर विरोध प्रदर्षन किया। प्रदर्षन के अन्त में एसडीएम इटवा को ज्ञापन सौप कर कार्यवाही की मांग की । 

प्रेरक संघ के अध्यक्ष राजेष कुमार विष्वकर्मा ने कहा कि मात्र दो हजार पर नौकरी कर रहे प्रेरकों से साक्षारता , सर्वे, बतौर बीएलओं मतदाता पुनरीक्षण का काम लिया जा रहा है। लेकिन आज लगभग 24 माह से अधिक समय का बकाया मानदेय भुगतान नहीं किया जा रहा है। मुजम्मिल हुसेन ने अपने संबोधन में कहा कि एक तो उच्च षिक्षा बरीयता पर नियुक्त प्रेरको का मानदेय मनरेगा व दिहाड़ी मजदूरों से भी कम है। बावजूद मानदेय भुगतान में आनकानी की जा रही है। दो वर्ष से अधिक समय से मानदेय बकाया होने के कारण प्रेरको का परिवार भुखमरी का षिकार हो रहा है। बावजूद जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे है। इसके अलावा प्रेरको ने प्रभारी साक्षारता समन्वयक पर भी शोषण का आरोप लगाया। प्रेरको का कहना है कि समन्वय द्वार ऐसे प्रेरको से पैसा लेकर एनके खातं मे पैसा भेजा जा रहा है जो या तो क्षेत्र से बाहर प्रदेष में रहते है।

 इस मौके पर मुजम्मिल हुसेन, दुर्गेश सिंह,शिशुपला श्रद्धा पाण्डेय, दिलीप कुमार , ममता , विन्दूलाल,षशिवकुमार, शालिनी त्रिपाठी,रमेष दूवे, विजय कुमार, नान बाबू मौय, संतोष कुमार, अमीरुल्लाह आदि प्रेरक मौजूद रहे।

​इटवा में कई राज्य के कवि वा लेखकों का होगा समागम

डा० जंगबहादुर चौधरी

बुद्ध की धरा पर तीन देश 25  राज्य के साहित्यकारों की त्रिवेणी बहेगी 



सिद्धार्थ तथागत कला साहित्य संस्थान की ओर से 13 नवंबर को इटवा बाजार सिद्धार्थ नगर उत्तर प्रदेश ,भारत में होने वाले अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार एवं  अंतर्राष्ट्रीय तथागत सृजन सम्मान 2016 में कार्यक्रम के उदघाटनकर्ता अधिष्ठाता विक्रमशिला हिंदी विद्यापीठ भागलपुर डॉक्टर योगेन्द्र शर्मा अरुण ( उतराखंड ), कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ.राजेंद्र परदेसी अंतर्राष्ट्रीय साहित्यकार एवं चित्रकार,कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डॉक्टर दरखशा अंदराबी ( कश्मीर ) सुप्रसिद्ध चिन्तक एवं चिन्तक, प्रो.डॉ.चंद्रभान भोयर कुलपति आईनोक्स इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी महारास्ट्र,डॉ.पी.डी.निगम कमांडो पूर्व भारतीय नौसेना,डॉ.अनमोल तेपुरने महासचिव रास्ट्रीय मानवाधिकार संश्था नागपुर,डॉ.राजाराम  सिंह पी.आर.ओं.  जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी होंगे ।  डॉक्टर रघुवीर शर्मा ( नेपाल ) राधेश्याम लेकाली ( नेपाल ) उज्ज्वल जि सी ( नेपाल ) अंजना पौडेल ( नेपाल ) सरु सुबेदी ( नेपाल ) अविनाश बागड़े ( नागपुर ) शील निगम ( मुंबई ) वीरभद्र कार्कीढोलि ( सिक्किम ) सुस्मिता दास ( मेघालय ) मंजू लामा ( मेघालय ) डॉक्टर अनीता पांडा ( मेघालय ) डॉक्टर कंचन शर्मा ( इम्फाल ) जयश्री शर्मा (असम ) रुनु बरुआ ( असम ) कालीपद दास ( कोलकता ) डॉक्टर रंजीत रविशैलम ( केरल ) डॉक्टर किंग गुनू धर्ती (मिजोरम ) ज्योति मिश्रा (बिलासपुर ) डॉक्टर गीता डोंगरा ( पंजाब ) बिशन सागर ( पंजाब ) कान्ता रॉय ( भोपाल ) क्षेत्र प्रेम मुखिया ( दार्जिलिंग ) सुषमा शर्मा ( दार्जिलिंग ) उषा नंदी ( दार्जिलिंग ) डॉक्टर उषा शा ( कोलकता ) डॉक्टर यासमीन खान ( मेरठ ) बलराम सैनी ( जम्मू ) जनार्दन मिश्रा ( आरा ) डॉक्टर सतीश विमल ( कश्मीर ) मंजुला अरगरे शिंदे ( ग्वालियर ) डॉक्टर हरी प्रकाश राठी ( राजस्थान ) कमला सिंह जीनत ( दिल्ली) डॉक्टर हेमलता बबली बशिष्ठ ( दिल्ली ) उषा किरण सत्यदर्शी ( दार्जिलिंग ) डॉक्टर ठाकुर प्रसाद चौबे ( दिल्ली ) मधु प्रधान ( कानपुर) और डॉक्टर अशोक मधुप ( नॉएडा) डॉक्टर उषा शा ( कोलकता ) डॉक्टर पंडित बन्ने ( महाराष्ट्र ) कैलाश झा किंकर ( बिहार ) रामदेव पंडित राजा ( बिहार ) सुरेंद्र प्रसाद गिरी ( नेपाल )आदि राज्यों से कवि.लेखक. वा प्रसिद्ध शायर सहित कई नाम चीन हस्तियों का इटवा स्थित बीआरसी परिसर में  आयोजित कार्यक्रम में समागम होगा । 

उक्त जानकारी कार्यक्रम  के अध्यक्ष डाo भास्कर शर्मा वा कार्यक्रम के व्यवस्थापक सदस्य कृष्णलाल यादव ने संयुक्त रुप से दी है।