डी.ब्रीफिंग कार्यक्रम का समापन के अवसर 50वीं वाहिनी के सेनानायक देशराज सिंह ने diya स्वच्छता पर टिप्स

स्वच्छता हमारे जीवन में विशेष स्थान रखता    –   देशराज सिंह

सेनानायक देशराज सिंह ने कहा कि विद्यालय में शिक्षकों की कमी है तो एसएसबी के जवान उन विद्यालयों में पढ़ायेंगे

जितेन्द्र शुक्ल/ डा0 जंगबहादुर चैधरी

img-20161118-wa0003

बढ़नी ( सिद्धार्थनगर) । स्वच्छता हमारे जीवन में विशेष स्थान रखता है।साफ.सफाई से बीमारी दूर रहती है।शौचालय का उपयोग आम लोगों को करना चाहिए।इसके लिए सभी को प्रयास करना होगा।
उक्त बातें सशस्त्र सीमा बल 50वीं वाहिनी के सेनानायक देशराज सिंह ने ष्ससेहरतगढ़ क्षेत्र के महादेव बुजुर्ग बीओपी पर एलआरपी ;लांग रुट पेट्रोलिंगद्ध के तहत पांच दिवसीय डी.ब्रीफिंग कार्यक्रम का समापन के अवसर कही। वह कार्यक्रम के समापन के अवसर पर क्षेत्रीय गा्रीमणों से वार्त कर उन्हे स्वच्छता से संबंधित जानकारी दे रहे थे। उन्होंने कहा कि इस एलआरपी और डी.ब्रीफिंग का उद्देश्य सीमाई क्षेत्र में स्वच्छताएशिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में आने वाले समस्याओं की जानकारी प्राप्त करना है।उन्होंने कहा कि अगर किसी विद्यालय में शिक्षकों की कमी है तो एसएसबी के जवान उन विद्यालयों में पढ़ायेंगे।उन्होंने मौजूद ग्रामप्रधानों से लिखित रुप से खराब व जर्जर एनएच 730 की मरम्मत के लिए शिकायत करने को कहा।उन्होंने कहा खराब बौद्ध परिपथ के बारे में सिद्धार्थनगर के जिलाधिकारी से बात करने का आश्वासन भी दिया।उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र शिक्षाएस्वास्थ्य के क्षेत्र में काफी पिछड़ा है।इसीलिए शीघ्र ही एसएसबी कुछ जगहों पर पशु और मानव चिकित्सा शिविर का आयोजन करेगी।इस मौके पर लोगों ने महादेव बुजुर्ग और सेमरहवा में रेलवे क्रासिंग पर फाटक की मांग किया।जिससे दुर्घटना को रोका जा सके।
कार्यक्रम मे एसएसबी महादेव बुजुर्ग बीओपी प्रभारी इंस्पेक्टर सुमित कुमार पाण्डेयए एअचिन्त्य बेंजलए पीसी पंत ,एल हेंगसिंहएरंजीत रंजनए एविवेक गिरिएजे रायएजीतेन्द्र कुमारएसतीश कुमारएरामवीर सिंहए ओमप्रकाश ,रामचंद्र चौरसियाएजीतेन्द्रएसंटु मुखर्जीएअजीत कुमार पाण्डेयएनवीन कुमार पृथ्वीएऔदही कलां के पूर्व ग्रामप्रधान मयंक शुक्लएअसलमए एमोण्जमालएसब्बीर अहमदएसचिनएसाकिरएअतीकुर्रहमान ,सफीउल्लाह आदि लोग मौजूद थे।

जानिये । कई बीमारियों में तुलसी पौधा साबित हो रहा रामबाण 

डा० जंगबहादुर चौधरी

इटवा । तुलसी के पौधा का उपयोग आपके लिये रामबाण  साबित हो सकता है। जी हां हम बात कर रहे है अाप के गांव घर वा घर के आंगन में लगे तुलसी के पौधे की वह एैसा हर्ब है। जो कई समस्याओं का रामबाण इलाज है। तुलसी का दूध पीने से कई बीमारियां दूर होती हैं। ऐसा मानना है आयुर्वेदक चिकित्सक डा.बीएन पाठक जी का 
आईये जानते हैं कैसे तुलसी के पत्ते दूध में डालकर पीने सेहत को मिलते हैं कई लाभ 

  •       फ्लू से बचाएगा

तुलसी में मौजूद एंटी-इन्फ्लेमेट्री तत्वों से फ्लू के लक्षणों को नष्ट करने में मदद मिलती है।  जल्दी ही ये फ्लू को ठीक कर देता है। फ्लू होने पर आप दूध में तुलसी के दो चार पत्ते डाल दें और थोड़ी देर रख दें। कुछ देर बाद इसे पी लें।  

  •        तनाव करता है कम

तुलसी आपके तनाव से भी छुटकारा दिलाती है। गर्म दूध में अगर तुलसी के पत्ते डालकर पीने से नर्वस सिस्टम को आराम मिलता है और ये स्ट्रेस हार्मोन को नियंत्रि‍त करता है साथ ही  डिप्रेशन से भी बचाता

  •         कैंसर से बचाता है

तुलसी और दूध दोनों ही एंटीऑक्सीडेंट्स और पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जो कि इम्यून सिस्टम मजबूत करते हैं। साथ ही कई तरह के कैंसर के सेल्स को पनपने से रोकते हैं।  

  •    किडनी स्टोन होगा दूर

तुलसी के पत्तों से यूरिक एसिड कम होता है और किडनी स्टोन धीरे-धीरे खत्म होने लगता है।  कोल्ड की समस्या होगी दूर- तुलसी और दूध में एंटीबैक्टीरियल प्रोपर्टी होती हैं जो कि सूजे हुए गले, कोल्‍ड और ड्राई कफ को ठीक करती है।  

  •        सिरदर्द करेगा दूर

दूध और तुलसी का मिश्रण सिरदर्द को दूर कर सकता है। रोजाना आप इस मिश्रण को पीएंगे तो धीरे-धीरे सिरदर्द जाता रहेगा।