इटवा:-अवकाश प्राप्त शिक्षकों का सम्मान समारोह का किया गया आयोजन ,विधायक सतीश चन्द्र द्विवेदी ने कहा कि यह भारतीय परम्परा रही है ,यह सम्मान दायित्वबोध कराता है कि हमे अपनी जिम्मेदारियों का कैसे निर्वहन करना है

IMG-20190808-WA0302.jpg

सम्मान समारोह में उपस्तिथत अतिथिगण

इटवा, सिद्धार्थनगर । शुक्रवार को तहसील सभागार इटवा में गुरुवन्दन एवं अवकाश प्राप्त शिक्षकों का सम्मान समारोह का आयोजन राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ सिद्धार्थनगर की ओर से आयोजित किया गया ।बैठक में मुख्य अतिथि सतीश द्विवेदी विधायक इटवा ,विशिष्ट अतिथि त्रिभुवन जी उपजिलाधिकारी इटवा ,रमेश चन्द मौर्य खण्ड शिक्षाधिकारी इटवा जी रहे।बैठक की अध्यक्षता आदित्य शुक्ला जी द्वारा तथा संचालन पंकज त्रिपाठी जी द्वारा की गई।
सभा को सम्बोधित करते हुये आदित्य शुक्ला जी ने कहा कि एबीआरसी जो दस बारह वर्षो से कब्जा जमाये है वह अपने मूल विद्यालयो पर जाकर अध्यापन करें।
सभा में उपस्थित अवकाश प्राप्त शिक्षक सतीश मिश्रा,मो.अजीज,रामदीन मौर्य,प्रेम नन्दिनी,श्यामसुन्दर पाठक,राजनारायण सिंह ,रामशंकर जी,जगन्नाथ,विजय प्र काश तिवारी का शाल व मोमेन्टो देकर विधायक जी द्वारा सम्मानित किया गया।
माननीय विधायक सतीश चन्द्र द्विवेदी जी ने क इस कार्य क्रम पर खुशी जताई और कहा कि यह भारतीय परम्परा रही है ,यह सम्मान दायित्वबोध कराता है कि हमे अपनी जिम्मेदारियों का कैसे निर्वहन करना है।शिक्षक कभी भी सेवानिवृत नही होता है,भले ही वह विभाग से हट जाये,समाज में सदैव सम्मान होता रहेगा। हम शिक्षक पहले अपने दायित्वों को सही से निर्वहन करे,पूरी दुनिया मे भारत देश में ही गुरु व आचार्य परम्परा शुरु से चली आ रही है ।गुरु महिमा का बखान करते हुये कहा कि गुरु का काम अन्धकार से प्रकाश की ओर ले जाना होता है। अन्त मे कहा कि बच्चों के उज्जवल भविष्य बनाने में सहयोग करें , शिक्षको के मुद्दे पर बेबाकी से बात की और भरोषा दिया कि हम आपके साथ है
बैठक को सम्बोधित करते हुये तहसीलदार इटवा ने भी कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये शिक्षको की समस्याओ पर कहा कि जल्द ही इनका निराकरण होगा।
समारोह में मो. इमरान ,जे पी गुप्ता ,फरीद खान ,अनुराग वर्मा ,रामजी केसरवानी,इन्द्रमणि त्रिपाठी,अरुण विश्वकर्मा ,कपिल तिवारी,देवेन्द्र गौड़,मो इमरान,सुरेश कुमार ,दिलीप कुमार, अमित पाण्डेय ,हेमन्त गुप्ता ,अजीत चौधरी ,बसन्तु ,ओंकार साहनी जी,शैल सिंह जी,देशराज शर्मा, आदि उपस्थिति रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *